विवादों के बाद भी नहीं थमा मिताली का बल्ला

0
83
Mitali- raj

10 साल की उम्र से क्रिकेट को गंभीरता से लेने वाली भारतीय महिला टीम को अपने दम पर कई कामयाबियां दिलाने वाली मिताली राज का जन्म राजस्थान के जोधपुर में हुआ था। मिताली के पिता भारतीय वायुसेना के ​अधिकारी भी रह चुके हैं। मिताली ने क्रिकेट की शुरुआती कोचिंग सेट जॉन्स हाई स्कूल हैदराबाद से हासिल की थी।

तमिल परिवार से वास्ता रखने वाली भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज और कोच रमेश पोवार का विवाद काफी चर्चा में रहा। इसके बाद भी मिताली राज के परफॉमेंस में कोई कमी नहीं आई। उन्होंने अपने बल्ले के दम पर और सूझबूझ कप्तानी के बल पर कई रिकॉर्ड और उपलब्धियां हासिल की। निजी जिंदगी में हमेशा शांत स्वभाव और किताबों से विशेष प्रेम रखने वाली मिताली घरेलू जिम्मेदारी भी बखूबी से निभाती है। मिताली 17 की उम्र में भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल हो गई थी। उन्होंने 1999 में आयरलैंड के खिलाफ अपने पहले वनडे मुकाबले में डेब्यू मैच में 114 रनों की नाबाद पारी खेली थी।

मिताली राज के लिए साल 2018 काफी मिला-जुला रहा। एक तरफ जहां वह आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप के दौरान टीम के तत्कालीन कोच रमेश पोवार के साथ विवाद हुआ। 36 साल की मिताली और कोच पोवार के बीच विवाद हुआ जिसके बााद पोवार को कोच से हटा दिया गया था। जिसके बाद भारतीय महिला टीम में नए कोच पूर्व ओपनर डब्लूवी रमन को भारतीय महिला टीम का नया कोच नियुक्त किया गया था। लेकिन इन विवादों के बाद भी मिताली के परफॉमेंस में कोई कमी नहीं आई।

हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ चल रही तीन वनडे मैचों की सीरीज के तीसरे मुकाबले में मिताली ने अपना 200वां मैच खेलकर एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। सबसे अधिक वनडे खेलने वाली मिताली दुनिया की एक मात्र बल्लेबाज बन गई है।

Read More :- महिला क्रिकेटर मिताली के नाम एक नहीं इतने रिकाॅर्ड हैं दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here