Breaking News

पैसों की कमी से कोई होनहार पिछड़ न जाए: सचिन दीक्षित

Posted on: 06 Jun 2018 08:55 by hemlata lovanshi
पैसों की कमी से कोई होनहार पिछड़ न जाए: सचिन दीक्षित

इंदौर: मदद करना केवल पैसे देना नहीं होता। मदद ऐसी होनी चाहिए जो आगे भी काम आए साथ ही अन्य लोग भी जुड़े। ऐसी ही सोच लिए शहर की एक ऐसी युवा शख्सियत सचिन दीक्षित से घमासान डॉट कॉम आज मिलावा रहा है।

क्रेजी आॅन वेब डिजिटल मार्केटिंग इं​स्टिट्यूट के आॅनर सचिन दीक्षित पिछले 8 सालों से शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हैं। वहीं सोशल वर्क में भी आगे रहते हैं। 1 जून को एमपी लेवल का ब्रांड लीडरशिप अर्वाड प्राप्त कर चुके सचिन जी का मानना है कि काम ऐसा करो जिससे दूसरों को भी फायदा हो।sachin 3

फ्री वर्कशॉप
सचिन जी ने बताया कि मुझे पढ़ाने का शौक था। यही शौक पैशन बन गया और अब प्रोफेशन भी। इंस्टिट्यूट शुरू करने का मकसद ही यही था कि स्टूडेंट्स को सही राह ​मिले और कोर्स के बाद अच्छी जॉब भी। हम महिने में एक या दो फ्री वर्कशॉप भी आयोजित करते हैं। वर्कशॉप ऐसे स्टूडेंट्स के लिए होती है, जो टैलेंटेड तो होते है लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर होते है। वर्कशॉप का एक ही मकसद है कि पैसों की कमी से कोई होनहार पिछड़ न जाए।

sachin 2

मदद ऐसी करो हमेशा याद रहे
देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी डिजिटल इंडिया का सपना देख रहे हैं। इसी सपने को साकार करने की कोशिश कर रहा हूं। इंस्टिट्यूट के साथ ही मैं कई एनजीओ से भी जुड़ा हूं। मेरी सोच है कि मदद ऐसी करो जो हमेशा याद रहे। आर्थिक मदद करना सही है लेकिन मदद ऐसी हो जिससे और लोग भी जुड़े। हम लोग शहर के राह एनजीओ का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। राह एनजीओ द्वारा खंडवा रोड पर स्कूल का निर्माण कराया जा रहा है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com