Breaking News

जब मोदी के मंत्री बोले, चिल्लना बंद करो, नहीं तो थप्पड़ पड़ेंगे | Nitin Gadkari said, If you shout again, you’ll be spanked and thrown out

Posted on: 07 Mar 2019 11:47 by Pawan Yadav
जब मोदी के मंत्री बोले, चिल्लना बंद करो, नहीं तो थप्पड़ पड़ेंगे | Nitin Gadkari said, If you shout again, you’ll be spanked and thrown out

यूपी में भाजपा सांसद और विधायक के बीच हुए जूते कांड का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि मोदी सरकार के मंत्री ने नारे लगा रहे लोगों को थप्पड़ मरने की बात कही। इसके बाद राजनीतिक माहौल गर्मा गया है। अब विपक्ष भाजपा नेताओं के बयानों को लेकर हमला करने लगे हैं। दरअसल, नागपुर में भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) के स्थायी परिसर के भूमिपूजन समारोह केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान कुछ लोग विदर्भ राज्य बनाने के पक्ष में नारेबाजी कर रहे थे।

Read More : मोदी सरकार की नई पेंशन योजना, जानें ब्याज दर

इससे केंद्रीय मंत्री गडकरी नाराज हो गए और लोगों को कार्यक्रम से बाहर निकालने की धमकी दी। इसके बाद जब गडकरी ने फिर से भाषण देना शुरू किया तो लोग फिर से नारेबाजी करने लगे, बल्कि मीडिया के लोगों के बीच पर्चे भी उड़ाए। इस पर गडकरी ने कहा कि यदि वे फिर हंगामा करते हैं, तो उन्हें थप्पड़ लगाइए, याद रखिए – चिल्लाना बंद कीजिए अन्यथा थप्पड़ लगेगा और बाहर निकाल दिया जाएगा। उन सभी को बाहर निकालिए। इस दौरान मंच पर महाराष्ट्र के मुख्मयंत्री देवेंद्र फड़णवीस भी मौजूद थे। कार्यक्रम में मंत्री गडकरीने कहा कि स्थानीय लोगों को नौकरी में प्राथमिकता दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम इसके लिए एक मजबूत कानून भी लेकर आएंगे।

बैठक में लड़े भाजपा सांसद और विधायक

इससे पहले यूपी में जिला योजना समिति की बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन के सामने ही खलीलाबाद (संतकबीरनगर) से सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल का विवाद हो गया। विवाद में आगबबूला हुए सांसद त्रिपाठी ने भरी बैठक में विधायक बघेल को एक के बाद एक सात जूते मारे। इसका जवाब देते हुए विधायक ने सांसद को मौके पर तमाचे जड़ दिए। दोनों के बीच विवाद विकास कार्यों की लोकार्पण पट्टी पर नाम नहीं होने को लेकर हुआ था। दरअसल, लोकसभा चुनाव से पहले होने वाले विकास कार्यों को लेकर जिला योजना समिति की बैठक बुलाई गई। बैठक में सांसद ने विधायक पर अपने क्षेत्र में विकास कार्यों पर नाम न लिखवाने का आरोप लगाया। इस बीच दोनों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए और देख लेने की धमकी देने लगे। इसी बीच सांसद शरद त्रिपाठी उठे और पैर से जूता निकालकर विधायक मेंहदावल राकेश सिंह बघेल को एक के बाद एक सात जूते मारे। इसका जवाब देते हुए विधायक ने सांसद को तमाचे जड़ दिए। माहौल बिगड़ता देखे सांसद कलेक्टोरेट में छिप गए। इधर, विधायक और उनके समर्थक सांसद का बाहर निकलने का इंतजार करते रहे। हालांकि बाद में भाजपा सांसद त्रिपाठी ने घटना को लेकर खेद जताया।

Read More : IIT Bombay में बोले पीएम मोदी, आईआईटी के छात्र देशवासियों के लिए काम करें

भाजपा विधायक ने राहुल-प्रियंका को बताया रावण-शूर्पणखा

अनुशासन की बात करने वाली भाजपा या तो विवाद बयान देते हैं या फिर अफसरों को धमकाते हैं। इसी बीच भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान राम बताया, तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को रावण और उनकी बहन प्रियंका गांधी की तुलना शूर्पणखा से कर दी। बलिया जिले की बैरिया सीट से भाजपा विधायक सिंह ने कांग्रेस को टूटी हुई नाव बताया है। उनका कहना है कि इस बार लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी रावण की भूमिका में है और भगवान राम की भूमिका पीएम मोदी है, तो ऐसे में लंका विजय होकर रहेगी। उन्होंने रामायण का उदाहरण देते हुए कहा कि जिस तरह से लंका दहन से पहले रावण ने अपनी बहन (शूर्पणखा) को भेजा था, उसी प्रकार राहुल गांधी ने भी यूपी में अपनी बहन प्रियंका को भेजा है। इससे कुछ नहीं होगा मोदी की जीत तय है।

Read More : बीजेपी सांसद ने प्रियंका गांधी के पहनावे पर की टिप्पणी, मचा बवाल

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com