Breaking News

PNB Fraud: चुनाव नतीजे आने तक जेल में ही रहेगा नीरव मोदी

Posted on: 26 Apr 2019 18:50 by Surbhi Bhawsar
PNB Fraud: चुनाव नतीजे आने तक जेल में ही रहेगा नीरव मोदी

पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों का चुना लगाकर विदेश भागा भगोड़ा नीरव मोदी अब चुनाव के नतीजे आने तक जेल में ही रहेगा. वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने एक बार फिर नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी है। नीरव मोदी कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश किया गया। अब इस मामले की अगली सुनवाई 24 मई को होगी।

इससे पहले भी खारिज हो चुकी है याचिका

इससे पहले पिछले महीने भी कोर्ट ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी और 26 अप्रैल तक जेल भेजते हुए अगली सुनवाई की तारीख इस दिन के लिए टाल दी थी। गौरतलब है कि लंदन में मोदी की जमानत का भारत की जांच एजेंसियों ने विरोध किया था।

जांच अधिकारी को हटाया

इसी बीच खबर आई थी कि नीरव मोदी मामले की जांच कर रहे रहे प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक सत्यब्रत कुमार का तबादला कर दिया गया है। लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में वे भी मौजूद थे जहां नीरव मोदी की बेल याचिका पर सुनावाई हो रही थी। हालांकि ED ने इस खबर का खंडन किया था। बता दे कि विजय माल्या के जांच मामले में भी सत्यब्रत कुमार इन्वेस्टिगेशन अधिकारी की भूमिका निभा चुके हैं।

किया था गिरफ्तार

पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों की चपत लगाने का आरोपी नीरव मोदी को 20 मार्च को लंदन में गिरफ्तार किया गया था। इससे पहले सोमवार को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था। नीरव मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी जारी हो चुका है।

13 हजार करोड़ का किया घोटाला

गौरतलब है कि करीब 13 महीने पहले नीरव मोदी पीएनबी में 13 हजार करोड़ का घोटाला कर विदेश भाग गया था। इसके बाद से ही भारत की जांच एजेंसियां उसकी तलाश में जुटी हुई थी। जांच एजेंसियों ने नीरव मोदी की कई संपत्तियां भी जब्त कर ली है। कुछ ही दिन पहले महाराष्ट्र के रायगढ़ में बने के आलिशान बंगले को ध्वस्त कर दिया गया था।

इतनी संपत्ति हुई जब्त

इस घोटाले के बाद नीरव मोदी की भारत और विदेशों में मौजूद 1,725.36 करोड़ रुपये की संपत्तियां को जब्त किया जा चुका है। इसके अलावा नीरव मोदी समूह से संबंधित 489.75 करोड़ रुपये के सोने, हीरे, बुलियन, आभूषण और अन्य कीमती सामान भी जब्त किए गए है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com