ग्रीन टी पीते वक्त कभी न करें ये गलती

यही वजह है कि ग्रीन टी, दुनियाभर में मैजिकल चाय के रूप में मशहूर हो गई है। बहुत सी स्टडीज में ग्रीन टी के फायदों के बारे में भी बताया गया है।

0
68
green tea

अपनी किसी पुरानी फेवरिट ड्रेस में वापस से फिट होना हो या दोस्त या रिश्तेदार की शादी में फ्लैट टमी को फ्लॉन्ट करना हो…इन सबके लिए हम सबसे पहले अपनी डायट में ग्रीन टी को शामिल करते हैं। यही वजह है कि ग्रीन टी, दुनियाभर में मैजिकल चाय के रूप में मशहूर हो गई है। बहुत सी स्टडीज में ग्रीन टी के फायदों के बारे में भी बताया गया है। लेकिन ग्रीन टी पीते वक्त आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए और साथ ही एक दिन में 2-3 कप से ज्यादा ग्रीन टी भी नहीं पीनी चाहिए…

खाने के तुरंत बाद न पिएं

ज्यादातर लोगों को सबसे बड़ी गलतफहमी ये होती है कि खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीने से खाने से शरीर को मिली कैलरीज जादुई तरीके से गायब हो जाएगी। लेकिन इस बात में कोई सच्चाई नहीं है और यह बात पूरी तरह से गलत है। खाना खाने के बाद भोजन में मौजूद प्रोटीन को पचने में वक्त लगता है। ऐसे में अगर आप खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पी लेते हैं तो पाचन की इस प्रक्रिया में रुकावट आती है जिससे डाइजेशन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। लिहाजा खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीने से बचें।

ध्यान रहे ग्रीन टी बहुत ज्यादा गर्म न हो

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें बेहद गर्म चाय पसंद होती है। कप में छानी और बस मुंह तक पहुंच गई। लेकिन ग्रीन टी के मामले में ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए। बहुत ज्यादा गर्म ग्रीन टी पीने से न सिर्फ उशका स्वाद बिगड़ जाता है बल्कि इससे आपके गले और पेट को भी तकलीफ पहुंच सकती है। ग्रीन टी पीने का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिले इसके लिए जरूरी है कि आप इसे गुनगुना ही पिएं।

ग्रीन टी उबालते वक्त उसमें शहद न डालें

बहुत से लोग ग्रीन टी को और ज्यादा हेल्दी बनाने के लिए उसमें शहद डालकर पीना पसंद करते हैं। लेकिन जिस तरह बहुत ज्यादा गर्म ग्रीन टी पीना नुकसादेह हो सकता है, ठीक उसी तरह ग्रीन टी को उबालते वक्त अगर आप उसमें शहद डाल देते हैं तो इससे शहद की न्यूट्रिशनल वैल्यू खत्म हो जाती है। ऐसे में जब ग्रीन टी का टेंपरेचर थोड़ा कम हो जाए तब उसमें शहद और दालचीनी मिलाकर पिएं।

दवाइयों के साथ ग्रीन टी न पिएं

बहुत से लोगों को आपने देखा होगा कि जो सुबह की दवाइयों को पानी की बजाए ग्रीन टी के साथ ले लेते हैं। ऐसा बिलकुल न करें और यह आपकी सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। दवाइयों का केमिकल कॉम्पोजिशन, ग्रीन टी के साथ मिलकर ऐसिडिटी की समस्या पैदा कर सकता है। लिहाजा रेग्युलर दवा खाने के लिए पानी का ही इस्तेमाल करें।

आर्टिफिशल फ्लेवर ऐड न करें

मार्केट में इस वक्त आपके स्वाद और टेस्ट को ध्यान में रखते हुए ग्रीन टी के ढेरों फ्लेवर्स मिल रहे हैं। बहुत सी ग्रीन टी तो ऐसी होती है कि सिर्फ उसकी बिक्री बढ़े इसके लिए उसमें ढेर सारे आर्टिफिशल फ्लेवर मिला दिए जाते हैं। ये सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। लिहाजा नैचरल फ्लेवर वाली ग्रीन टी का सेवन भी बेहतर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here