जो काम नेहरू-इंदिरा नहीं कर पाए, वो मोदी ने कर दिखाया | Neither Jawaharlal Nehru nor Indira Gandhi, Modi did it…

0
10
modi

लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी का ऐसा जादू चला कि विपक्ष दल पस्त हो गए। इतना ही नहीं, मोदी की आंधी में बड़े-बड़े दिग्गज धराशायी हो गए। भाजपा ने 2014 के चुनाव का रिकाॅर्ड तोड़ते हुए इस बार 303 सीटों पर परचम लहराया है, जबकि एनडीए के हिस्से में 353 सीटें आई है। 35 साल में पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में दोबारा लौटने वाली भाजपा पहली पार्टी बन गई है।

इतना ही नहीं, भाजपा को इस बार अब तक के सबसे अधिक वोट शेयर हुआ है, जो एक प्रकार से रिकाॅर्ड है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा के वोट बैंक सीधे-सीधे 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। यह इस मायने में ऐतिहासिक है कि भारतीय इतिहास में 1952 के बाद कोई भी दल इस रफ्तार से अपने वोट शेयर में वृद्धि नहीं कर सका है। हालांकि पिछला रिकाॅर्ड कांग्रेस के नाम पर रहा है, जिसने 1984 में पार्टी का 5 प्रतिशत मत बढ़ा था।

1984 से पहले, दो बार ऐसा देखने को मिला जब एक पार्टी ने अपने वोट शेयर में इजाफा किया था। पहली बार 1957 में जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में और दूसरी बार 1971 में इंदिरा गांधी के नेतृत्व ये कारनामा हुआ था। हालांकि, दोनों बार कांग्रेस के वोटों में बढ़ोतरी हुई और दोनों बार वोट शेयर में वृद्धि 3 प्रतिशत थी।

भाजपा ने छोटे दलों के सहयोग से बाजी मारी
इससे पहले 2004 में भाजपा का वोट बैंक बढ़ा था। इतना ही नहीं, एनडीए ने 1998 और 1999 में भाजपा की अगवानी में सरकार बनाई थी। इस दौरान भाजपा का वोट शेयर कांग्रेस से कम था। बताया जा रहा है कि तीन बार ऐसे मौके आए जब भाजपा ने छोटे-छोटे दलों के साथ मिलकर अपना वोट शेयर बढ़ाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here