पाकिस्तान में न तो आजादी न ही सुरक्षा: ग्रांट फ्लावर

जिम्बाब्वे के यह पूर्व क्रिकेटर साल 2014 से पाकिस्तान टीम के साथ बतौर बल्लेबाजी कोच जुड़े हुए थे। पिछले सप्ताह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (क्कष्टक्च) ने उनका कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया।

0
54
grant flower

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर का मानना है कि पाकिस्तान में आजादी की कमी है और सुरक्षा की दृष्टि से भी यह अधिक महफूज नहीं है। उन्होंने कहा कि ये बातें इस देश में रहने से आपको सबसे ज्यादा चिड़चिड़ा बनाती हैं। जिम्बाब्वे के यह पूर्व क्रिकेटर साल 2014 से पाकिस्तान टीम के साथ बतौर बल्लेबाजी कोच जुड़े हुए थे। पिछले सप्ताह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (क्कष्टक्च) ने उनका कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया।

ग्रांट फ्लावर ने पाकिस्तानी टीम के साथ अपने अनुभव को साझा किया है। जब ग्रांट से पाकिस्तान में रहते हुए सबसे फ्रस्ट्रैटिंग (चिड़चिड़ाहट वाली) चीज पूछी गई तो उन्होंने सुरक्षा पक्ष और आजादी की कमी को बताया।

साल 2009 में पाकिस्तान दौरे पर आई श्रीलंका की टीम पर आतंकी हमला हुआ था। इसके बाद से दुनिया की बहुत ही कम टीमों ने पाकिस्तान का दौरा किया है। इस मौके पर फ्लावर ने साल 2017 में पाकिस्तान का चैंपियंस ट्रोफी में जीत दर्ज करना अपने कोचिंग करियर की बेहतरीन उपलब्धियों में गिना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here