सरकार के खिलाफ बोले तो योगी ने किया बर्खास्त | NDA Ally Om Prakash Rajbhar will be sacked from Yogi Adityanath Government

0
48
yogi adityanath

लखनऊ: लोकसभा चुनाव ख़त्म होते ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में दिख रहे है। योगी ने राज्यपाल राम नाईक से कैबिनेट मंत्री और भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को पद से बर्खास्त करने की मांग की है। ओमप्रकाश राजभर ने खुद इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि सीएम के फैसले का स्वागत करते हैं। गरीबों के साथ अन्याय हो रहा है।

इतना ही नहीं ओमप्रकाश राजभर की पार्टी के अन्य सदस्य जो विभिन्न निगमों और परिषदों में अध्यक्ष व सदस्य हैं सभी को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। गौरतलब है कि ओपी राजभर योगी कैबिनेट में पिछड़ा वर्ग कल्याण-दिव्यांग जन कल्याण मंत्री थे।

सरकार के खिलाफ बोलना पड़ा महंगा

दरअसल, ओपी राजभर पिछले लंबे समय से भाजपा और योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बोलते आ रहे है, जो योगी सरकार के लिए मुसीबत बने हुए थे। कई बार उन्होंने ऐसे बयान दिए जो सपा-बसपा के हक़ में गए। ऐसे में उन्हें मंत्री पद से हटाने के लिए योगी को राज्यपाल की मदद लेनी पड़ी।

सीएम ऑफिस की ओर से ट्वीट इसकी आधिकारिक जानकारी दी गई है। सीएम ऑफिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा गया है कि ‘योगी आदित्यनाथ ने महामहिम राज्यपाल को पिछड़ा वर्ग कल्याण और दिव्यांग जन कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर को मंत्रिमंडल से तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने की सिफारिश की।’

अनिल राजभर का बढ़ सकता है कद

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ इस हफ्ते में ओपी राजभर का इस्तीफा लिया जा सकता है। साथ ही डैमेज कंट्रोल के तहत राज्यमंत्री अनिल राजभर का कद बढ़ाया भी जा सकता है।

मैंने पहले ही दे दिया इस्तीफा

योगी आदित्यनाथ द्वारा ओपी राजभर को हटाए जाने की सिफारिश पर राजभर ने कहा कि ‘मैंने तो पहले ही अपना इस्तीफा दे दिया था, अब उनका जो मन हो वह करें। वह कह रहे थे कि हम उनकी पार्टी से चुनाव लड़ें, ऐसा करने पर तो हमारी पार्टी का अस्तित्व खत्म हो जाता। जिस विचार को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं, वह खत्म हो जाता।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here