बिहार: 128 बच्चों की मौत के बाद जागी सरकार, सीनियर रेजिडेंट सस्पेंड

0
52
bihar

पटना: बिहार में चमकी बुखार से 146 बच्चों की मौत के बाद सरकार की नींद खुली है। मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटलमें 128 बच्चों की मौत हुई है। बच्चों की मौत को लेकर केंद्र और नीतीश सरकार पर चौतरफा बढ़ रहे दबाव के बाद अब राज्य सरकार ने इस पर कार्रवाई की है।

नीतीश सरकार ने चमकी बुखार के संबंध में कार्रवाई करते हुए श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर भीमसेन कुमार को निंलबित कर दिया गया है। डॉ पर ये कार्रवाई कार्यस्थल पर लापरवाही बरतने के आरोप में की गई है। प्रशासन का कहना है कि तैनाती के बाद भी बच्चों की मौत के मामले सामने आए और हालात पर काबू नहीं पाया जा सका।

बिहार से स्वास्थ्य विभाग ने पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के बाल रोग विशेषज्ञ भीमसेन कुमार को 19 जून को एसकेएमसीएच में तैनात किया था। उनकी तैनाती के बाद भी अस्पताल में बच्चों की मौतों का सिलसिला नहीं रुका।

देश में मचा हाहाकार

चमकी बुखार से थम रही बच्चों की साँसों को लेकर देश में हाहाकार मचा हुआ है। टीवी से लेकर सोशल मीडिया तक इसको लेकर तरह-तरह की बातें हो रही है। लोगों में सरकार के खिलाफ काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है। केंद्र और राज्य सरकार इस स्थिति से निपटने की कोशिश कर रही है लेकिन अब तक कोई खास सफलता नहीं मिल पाई है।

अस्पताल की स्थिति

डॉक्टर्स का कहना है कि चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौतों को रोका जा सकता है, यदि अगर मुजफ्फरपुर में गरीब परिवारों के पास अच्छा खाना, साफ पानी और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिलें। दिमागी बुखार कहे जाने वाले चमकी बुखार से 16 जिले में करीब 600 बच्चें प्रभावित है। अस्पतालों का हाल बेहाल है। मरीजों के उपचार के लिए अस्पताल प्रशासन के पास सही ढंग से बेड तक नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here