Breaking News

थम जाएंगे ऑटो-रिक्शा के पहिए, मानसून के बीच बढ़ेगी मुंबई वालों की मुसीबत

Posted on: 08 Jul 2019 11:25 by Surbhi Bhawsar
थम जाएंगे ऑटो-रिक्शा के पहिए, मानसून के बीच बढ़ेगी मुंबई वालों की मुसीबत

मुंबई: मुंबई में लगातार हो रही बारिश के कारण जगह-जगह जलभराव से परेशान मुंबईवासियों के सामने अब एक और मुसीबत खड़ी हो गई है। सोमवार रात से मुंबई में ऑटो रिक्शा के पहिए थम जाएंगे। ऑटो रिक्‍शा यूनियन ने आज रात से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है। मॉनसून के चलते ऑटो-रिक्शा हड़ताल से मुंबईकरों की परेशानी बढ़ सकती है।

ऑटो यूनियन के मुताबिक यह हड़ताल विभिन्‍न मुद्दों को लेकर की जा रही है। इसको लेकर यूनियन ने पिछले महीने 9 जून को राज्य सरकार को अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का नोटिस सौंपा था। मुंबई के 2.12 लाख ऑटो रिक्शा चलाने वाले लगभग 4 लाख ड्राइवरों ने इस हड़ताल में शामिल होने की बात कही है।

ये है यूनियन की मांग

यूनियन के मुताबिक़ऑटो चालक पिछले लंबे समय से न्यूनतम किराया दर बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा उनकी मांग है कि मुंबई में नए ऑटो परमिट बन्द किए जाएं। ऑटो यूनियन की अन्‍य मांगों में 3 साल से अधिक समय से ऑटो चला रहे लोगों को बैज मुहैया कराना भी शामिल हैं। वहीं ऑटो चालक ओला और उबर जैसी कंपनियों पर भी रोक लगाने की मांग कर रही हैं।

सरकार होगी जिम्मेदार

ऑटो-रिक्शा मालक चालक संगठना संयुक्त कृति समिति के नेता शशांक राव के अनुसार, केवल मुंबई ही नहीं, पुणे, नासिक, नागपुर और औरंगाबाद की यूनियनें भी सरकार से नाराज है। ऐसे में इन्होने भी इस हड़ताल में शामिल होने की बात कही है। सरकार को नोटिस भेजने और बार-बार याद दिलाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। राव का कहना है कि मुंबईकरों को होने वाली परेशानी के लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

हड़ताल का आवाहन शहर की सबसे बड़ी ऑटो यूनियन ऑटोरिक्शा मेंस यूनियन की ओर से किया गया है। गौरतलब है कि जुलाई की शुरुआत्से ही मुंबई में बारिश का दौर जारी है। ऐसे में ऑटो रिक्शा की शहर में काफी मांग है। इस बीच ऑटो रिक्शा चालकों की हड़ताल का असर आम लोगों के जीवन पर भी देखने को मिल सकता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com