दिसंबर जितना कम ठंडा रहा, जनवरी में उतनी ही ज्यादा ठंड आम जीवन को प्रभावित कर रही है. पूरे मध्यप्रदेश में शीतलहर का कहर जारी है. दिन में सूर्य देवता दर्शन ही नहीं दे रहे, जिसके कारण शीतलता बनी हुई है और लोग दोपहर में भी घर से बाहर नहीं ​दिख रहे हैं तो शाम के समय भी अलाव का सहारा लेते हुए बहार जाने से कतरा रहे हैं. मीडिया सूत्रों के अनुसार दिसंबर का महीना पिछले दस सालों में सबसे ज्यादा गर्म रहा, उसके बाद नया वर्ष अचानक शीतलता के साथ शुरू हुआ. हर दिन पारे की चाल गिरती ही दिख रही है.

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान ​देते हुए बताया आगामी दिनों में राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई जिले कोहरे में ढंके नजर आएंगे. ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, सतना, रीवा के साथ गुना, भिंड, नीमच और रायसेन में घना कोहरा नजर आएगा तो विजिबिलिटी भी 50 मीटर से भी कम हो सकती है. अगले 2 से 3 दिन तक दिन का तापमान 25 डिग्री से नीचे ही रहेगा. मौसम विभाग का अनुमान यह भी है कि ग्वालियर में रात की ठंड दिल्ली की तरह ठिठुरन भरी हो सकती है.

Also Read – Optical Illusion: बूझो तो जानें! क्या आपकी नजरें ढूंढ पाएंगी तस्वीर में छिपी 3 गलतियां, केवल 2% लोग ही खोज पाए

यहां हो सकती है हल्की बूंदाबांदी और भारी बारिश

बैतूल, खंडवा, जबलपुर, छिंदवाड़ा और शहडोल के समीप के इलाकों में हल्की बूंदाबांदी या तेज़ बारिश हो सकती है. इंदौर और भोपाल में भी बारिश व बूंदाबांदी का प्रभाव दिख सकता है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक आज गुरुवार शाम या कल सुबह तक मावठे की शुरुआत हो सकती है और इसकी शुरुआत जबलपुर से होगी. जिसका प्रभाव भोपाल के आसपास तक एक्टिव हो सकता है.

एमपी के महानगरों में तापमान का अनुमान

भोपाल – न्यूनतम 6 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 20 डिग्री सेल्सियस
ग्वालियर – न्यूनतम 3 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 18 डिग्री सेल्सियस
जबलपुर – न्यूनतम 6 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 22 डिग्री सेल्सियस
इंदौर – न्यूनतम 7 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 21 डिग्री सेल्सियस