नहीं देखा होगा ऐसा चमत्कारी मंदिर, यहां मूर्ति बदलती है अपना रुप | Madhya Pradesh: Purva Gram near Mandla District Hanuman Temple change thrice in a day

0
73
hanuman

धर्म के प्रति लोगों की आस्था की बात करें तो भारत इस रेस में सबसे आगे ही होगा। और हो भी क्यों ना, रोज हमारे देश में हजारों चमत्कार होते है जो ईश्वर के प्रति हमारी आस्था को और भी बढ़ा भी देते है। आज हम आपको ऐसी ही एक चमत्कारी मंदिर के बारे में बताने जा रहे है।

आपने कई प्राचीन और धार्मिक स्थल के बारे में तो सुना ही होगा जो खास तौर पर अपने चमत्कार के लिए जाने जाते हैं। चमत्कारी मंदिरों में एक मंदिर यह भी है। मध्यप्रदेश में हनुमानजी की प्रतिमा है यहां की खास बात यह है कि यह प्रतिमा दिन में तीन बार अपना रूप बदलती है। आइए जरा नजदिक से इस मंदिर के बारे में जानते है।

पुजारियों ने देखा है यह अद्भुत चमत्कार

मध्यप्रदेश के मंडला जिले के पास पुरवा ग्राम के समीप सूरजकुण्ड नामक धार्मिक स्थल है जहां पर हनुमान जी का यह चमत्कारी मंदिर है। हनुमान जी की इस दुर्लभ मूर्ति की खासियत यह है कि चैबीस घंटो में प्राकृतिक रुप से तीन बार मूर्ति का रूप बदल जाता है। इस बारे में जब मंदिर के पुजारीयों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सुबह 4 बजे से दस बजे तक हनुमान जी की प्रतिमा का बाल स्वरूप रहता है। 10 से 6 बजे तक युवा अवस्था और 6 बजे से पूरी रात में वृद्ध स्वरूप हो जाता है।

दर्शन को दूर-दूर से आते है लोग

स्थानिय लोगों के अनुसार सूरजकुंड के मंदिर में विराजे हनुमान जी की प्रतिमा दुर्लभ है। ऐसी प्रतिमा और कहीं देखने को नहीं मिलती है। इस मूर्ति के चमत्कार को देखने के लिए लोग दूर दूर से आते है। कहा जाता है कि इस मूर्ति में स्वयं हनुमान जी का वास है और वे अपने भक्तों की हर मनोकामनाओं को पूरा करते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here