Breaking News

देश में सबसे ज्यादा इंदौर की महिलाएं करेगी मतदान | Indore women will vote for most of the country

Posted on: 03 Apr 2019 10:17 by shivani Rathore
देश में सबसे ज्यादा इंदौर की महिलाएं करेगी मतदान | Indore women will vote for most of the country

इंदौर : स्वच्छता के बाद इंदौर की महिलाएं सबसे ज्यादा मतदान करके इंदौर का नाम रोशन करेगी इस संकल्प के साथ कल एक बड़ा आयोजन महिलाओं की मौजूदगी में हुआ। कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव के निर्देशानुसार लाभ मण्डपम् संभाकक्ष में आज विशाल पैमाने पर महिला मतदाता जागरूकता सम्मेलन आयोजित किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि पद्मश्री डॉ. जनक पलटा(Dr. janak palta) ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे लोकतंत्र है। लोकतंत्र मतदान का बहुत बड़ा महत्व है। भारत में महिलाओं को पुरुषों के बराबर वोट देने का अधिकार है। महिला गृहस्थी रूप रथ का एक पहिया है और दो पंखों वाले पक्षी का एक पंख है। अहिल्या माता की इस पावन नगरी में महिलाओं को मतदान के मामले में देश में नम्बर वन बनना है। women voter

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एवं नोडल ऑफिसर स्वीप नेहा मीना ने कहा कि मतदान लोकतंत्र में बहुत बड़ा महत्वपूर्ण कार्य है। सभी महिलाएं इसका व्यापक पैमाने पर मताधिकार का उपयोग करें। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रूचि वर्धन ने कहा कि मतदान का उपयोग सभी महिलाएं अवश्य करें और अन्य महिलाओं को भी वोट देने के लिये प्रेरित करें। यह हमारा राष्ट्रीय दायित्व है। dance program

इस अवसर पर डॉ ज्योति बिंदल ने कहा की इंग्लैंड में 1903 से महिलाओं को मताधिकार मिला। स्विटजरलैंड में महिलाओं को 1974 में मताधिकार मिला। जबकि भारत देश आजाद होते ही महिलाओं को पुरुषों के बराबर मताधिकार मिला। इस अवसर पर पत्रकार जयश्री पिंगले ने कहा कि चुनाव एक त्यौहार है, इसमें महिला, पुरुष, बुजुर्ग और नौजवान सबको भाग लेना चाहिये। महिलाएं अपनी वोट की ताकत को समझें और मतदान करें। पिछले लोकसभा चुनाव(loksabha election) में इंदौर में मात्र 57 प्रतिशत महिलाओं ने ही मतदान किया था, जो की बहुत चिंता की बात है। एक नहीं दो-दो मात्रायें नर पर भारी नारी है।women voters indore

इस अवसर पर श्रीमती सुरभि मनोचा चौधरी कहा कि मतदान की तैयारी है। नर से आगे नारी है। महिलाएं लोकतंत्र में वोट के महत्व को समझें और राष्ट्र निर्माण में अपना दायित्व निभायें। नारी के मतदान के बिना लोकतंत्र अधूरा है। इस अवसर पर स्वीप ऑइकॉन सुश्री पलक मुच्छाल ने कहा कि लोकतंत्र में के लोक महोत्सव में सबकी आहुति जरूरी है।

इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर सुश्री श्रीलेखा श्रोत्रिय, स्वीप ऑइकॉन कुमारी देशना जैन, संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय डॉ. बीसी जैन और बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद थी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com