Breaking News

मप्र : छात्रावास, बालिका सुधार गृह का होगा सतत निरीक्षण

Posted on: 02 Feb 2019 19:23 by mangleshwar singh
मप्र : छात्रावास, बालिका सुधार गृह का होगा सतत निरीक्षण

मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने प्रदेश के सभी सरकारी , निजी , अनुदान प्राप्त शेल्टर होम , छात्रावास , बालिका सुधार गृह की सतत निगरानी व निरीक्षण के आदेश दिये है।उन्होंने कहा है कि सभी का सोशल ऑडिट हो , संचालित करने वालों की पूरी पृष्ठभूमि की जाँच हो, सतत मॉनिटरिंग हो , बच्चियों से समय- समय पर नियमित संवाद की व्यवस्था हो जिससे इनमे होने वाली दरिंदगी व हैवानियत की घटनाओ को रोका जा सके।

उन्होंने कहा है कि जब रक्षक ही भक्षक बन जाता है तो ऐसी घटनाएँ सामने आती है।पिछली सरकार के समय भोपाल , ग्वालियर व अन्य स्थानो से इनमे रहने वाली मूक-बधिर बालिकाओं,मासूम छात्राओं से दरिंदगी व हैवानियत की घटनाएँ सामने आयी थी।अभी हाल ही में रतलाम के जावरा से भी इस तरह की घटनाएँ सामने आयी है।हम इस तरह की घटनाओं पर सख़्ती से रोक लगाना चाहते है।

हम चाहते है कि पिछली सरकार के समय निजी व एनजीओ द्वारा संचालित शेल्टर होम को मिली मनमर्ज़ी की छूट समाप्त हो। काग़ज़ों पर दिखावटी निरीक्षण बंद हो।इनको मिल रहे अनुदान की जाँच हो। संचालको की पृष्ठभूमि की पूरी जाँच हो। राजनैतिक रसूख़ के आधार पर चल रही मनमर्ज़ी व नियमो के विपरीत कार्य बंद हो।

हम इनमे राजनैतिक दख़लंदाज़ी बंद करेंगे। कई शेल्टर होम अनैतिक गतिविधियों के अड्डे बन चुके है।हम इन सभी की जाँच करेंगे।हम प्रदेश पर बहन- बेटियों के लिये असुरक्षित प्रदेश के वर्षों से लगे दाग़ को मिटाना चाहते है। हम हर बहन- बेटी को सुरक्षा देना चाहते है।हम इसके लिये हरसंभव क़दम उठाएँगे।जावरा शेल्टर होम की घटना के दोषियों पर भी कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के  निर्देश दिये।
उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार बदल चुकी है। अधिकारी मानसिकता बदल कर कार्य करे।भविष्य में ऐसी घटनाएँ सामने आयी तो में ज़िम्मेदारों पर कड़ी कार्यवाही करूँगा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com