भोपाल : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह 190 दिन की परिक्रमा पूरी कर वापस लौट चुके है. बता दे कि नर्मदा परिक्रमा पूरी करने के बाद यात्रा के अनुभव इंदौर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में साझा करते हुए दिग्विजय ने कहा कि जगद्गुरू शंकराचार्य ने भी कहा परिक्रमा करो। अमृतासिंह ने भी साथ देने पर सहमति दी। लोगो ने कहा गाड़ी से कर लो, मैने मना कर दिया किसी को निमंत्रण नही दिया। नीखरा जी पूरे समय साथ रहेंगे यह मुझे पता ही नही थाहर वर्ग समाज के लोग परिक्रमा मे साथ रहे। मुझसे भी बुजुर्ग साथ रहेपहले 10-12 दिन नर्मदा जी परीक्षा लेती हैनर्मदा के दर्शन मात्र से पुण्य मिलता हैनर्मदा गंगा से भी पुरानी है25000 साल पुराना एक अवशेष नर्मदा के तट पर मिला है।किसी भी धर्म का कोई ऐसा संत ऋषि नही है जिसने नर्मदा मे तपस्या नही कियाअनुभव जानना हो तो खुद परिक्रमा करोसबसे पुरातन नदी नर्मदा मानी जाती है।11हर दो तीन किमी पर आश्रम मिलते है साधु संत मिलते हैजो हालात नर्मदा के है उससे मन मे दर्द पैदा होता हैएनसीए को न्यूनतम प्रवाह सुनिश्चत करना चाहिए।८० किलोमीटर तक तो नर्मदा का पानी पीने लायक नही हिल्सा मछली का कारोबार भी प्रभावित हुआनर्मदा उदगम अमरकंटक मे झीरन से पानी आना बंद हो गया है नर्मदा किनारे रहने वालो मे अदभुत सहयोग की भावना। घर मे दो रोटी है तो वे एक परिक्रमा वालो को खिलाते हैपरिक्रमा पर खाली हाथ जाओ भरे हाथ लौटो।12सबसे ज्यादा चिंता का विषय नर्मदा से रेत का मनमाना दोहन मशीन से। आंखों मे आंसु आ जाये देखकरमशीने हमे देखकर छुपा देते थे जबलपुर 48 खदानों पर अवैध उत्खनन। जैत मे दो हाथी खडे हो जाये जैसे बडे बडे गढ्ढे लीज न होने के बावजूद 50-50 फीट के गढ्ढे अवैध खुदाई के कारण हो गये हर साल 10 हजार कैस अवैध खनन र परिवहन के बने। 54 करोड का दंड लगाया 8 करोड लागू हुआ। 27 लाख ही वसूले बिना मुख्यमंत्री की सहमति के अवैध उत्खनन हो ही नही सकता।13मेरे सुझाव
नर्मदा कंट्रोल अथारिटी को न्यूनतम बहाल सुनिश्चित करना चाहिए।
हर 15 किमी पर ठहरने की व्यवस्था हो।
नर्मदा परिक्रमा पथ सुनिश्चित हो।
छोटे पुल बनाए जाए।14दिग्विजय ने कहा कि मुझे किसी ने कहा कि नर्मदा परिक्रमा करने चाहिए, सच बताऊ तो मुझे खुद को पता नही था कि नर्मदा परिक्रमा का क्या महत्व है। मैने सभी से चर्चा की थी। फिर तय किया कि पैदल परिक्रमा करेंगे निखरा जी भी साथ रहे। दिग्वजयसिंह ने प्रेस का आव्हान किया कि टीम हमारे साथ चले और देखे कि नर्मदा किनारे कितना अवैध खनन अवैध परिवहन हो रहा है। लोग नाम बताने में डरते है । हमारा आरोप है मुख्यमंत्री के शह पर ही यह हो रहा है।15दिग्विज बोले, परिक्रमा के बाद कोई पकोड़े नही तलूँगा, दमखम से राजनीति करूँगा। सरकार कांग्रेस की बने ये कोशिश होगी। मैने कभी सीएम पद के लिए कमलनाथ का नाम नही लिया। इतना ही नहीं दिग्विज ने मीडिया से चर्चा में आरोप लगते हुए कहा कि, बिना CM की अनुमति और शह के नर्मदाजी में इतना बड़ा अवैध खनन नही हो सकता। और आगे सिंधिया का फैसला राहुल गांधी करेंगे, कांग्रेस को जिताने के लिए सबको एक करना होगी।16

2000 के नोट- शिवराज की चिंता
अगर किसी प्रांत का सीएम ऐसा आरोप लगाए तो उसके बारे मे हम क्या कहे। कमी का आरोप हम पर लगाना हास्यास्पद। सीएम आरबीआई गवर्नर से पूछे ऐसा क्यों हो रहा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिग्विजय ने पत्नी अमृता का खुलासा करते हुए कहा कि अमृतासिंह राजनीति मे आयेंगी और वे खुद बता देंगी। भारत जैसे देश मे वन नेशन वन इलेक्शन भारत मे संभव नही। एट्रोसिटी एक्ट पर बदलाव के बाद का संघर्ष,,भोपाल डिक्लेरेशन को गलत प्रस्तुत किया जा रहा। जो संघर्ष हो रहा उसमे सरकार मे बैठे लोगो का योगदान। दलित और अपर कास्ट को लडवा रही। कांग्रेस पार्टी हिंसा की विरोधी, हिंसा कोई भी करे हमे स्वीकार्य नही। रोजी रोटी की कमी ही फस्ट्रेशन पैदा करती है। बीएसपी के साथ समझौता फैसला एआईसीसी करेगी। हम पर जो वोट बैंक की राजनीति का आरोप लगता था वही सब सत्तारुढ दल कर रहा है।

LEAVE A REPLY