Breaking News

एलआईजी से नौलखा तक 350 करोड़ का एलिवेटेड कारीडोर |350 million elevated cariders from LIG to Naukha

Posted on: 09 Mar 2019 21:17 by Rakesh Saini
एलआईजी से नौलखा तक 350 करोड़ का एलिवेटेड कारीडोर |350 million elevated cariders from LIG to Naukha

भोपाल, राजेश राठौर। मंत्री सज्जनसिंह वर्मा की पहल पर केंद्रीय सडक परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मंजूर किए 350 करोड़ रू।केंद्रीय रोड फंड से मध्यप्रदेश को मिले 1100 करोड रू से ज्यादा।

बीआरटीएस बनने के बाद से ही इस रोड पर ट्रैफिक जाम को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। जब बीआरटीएस बना तभी इसका विरोध किया था। लेकिन अफसरशाही नहीं मानी और उसके बाद बीआरटीएस बना दिया गया। रोजाना इस रोड पर ट्रैफिक जाम होने से परेशान कांग्रेस के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने तो यह कह दिया था कि पब्लिक को बीआरटीएस उखाड़ कर फेंक देना चाहिए। उसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस मामले में हस्तक्षेप किया। उन्होंने कहा कि यहां पर एलिवेटेड कारीडोर बनाना चाहिए।

मुख्यमंत्री के कहने के बाद मंत्री वर्मा ने इसकी योजना बनवाई। उसके बाद तत्काल प्रभाव से मंत्री योजना लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के पास पहुंचे। गडकरी ने यह प्रोजेक्ट समझने के बाद कहा था की केंद्र सरकार इसके लिए पैसा देगी। जरूरत पड़ने पर राज्य सरकार को भी कुछ पैसा मिलाना पड़ेगा। तब मंत्री वर्मा ने वादा किया था कि राज्य सरकार भी इसमें पूरा सहयोग करेगी। एलिवेटेड कारीडोर बनने में 3 साल का समय लगेगा।

Nitin Gadkari

लेकिन यह बड़ी बात है कि केंद्र में भाजपा की सरकार होने के बाद मंत्री सज्जन वर्मा ने सौजन्य मुलाकात केंद्रीय मंत्री गडकरी से की। वर्मा की तरह गडकरी ने भी सदासयता का परिचय दिखाया। उन्होंने कहा कि विकास के मामले में मैं राजनीति आड़े नहीं आने दूंगा। कुछ महीने पहले जब गडकरी इंदौर आए थे। तब उनसे लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी शहर में बनने वाले वाले एलिवेटेड कालीडोर को लेकर बात की थी। तभी गडकरी ने कहा था कि राज्य सरकार प्रोजेक्ट बनाकर भेजें हम मंजूरी देंगे।

उसके बाद विधानसभा चुनाव आ गए और मामला टल गया। अब मंत्री सज्जन वर्मा ने इंदौर के लोगों की तकलीफ को समझा और यह महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट मंजूर करा लिया है। अब इसकी ड्राइंग डिजाइन बनने के बाद टेंडर होंगे। उसके बाद काम शुरू होगा तब तक विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के कारण काम में देरी हो सकती है। लेकिन टेंडर होने के बाद दावा किया जा रहा है कि यह कालीडोर 3 साल में बन जाएगा। इंदौर वालों के लिए यह बड़ी अच्छी खबर है।

Read More:- शहर में पहली बार हेरिटेज वाक

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com