बच्चो के साथ मां नहीं एक दोस्त बनकर रहती है नेहा मित्तल

0
15

इंदौर: आज पूरी दुनिया मदर्स डे मना रहा है मां और बच्चो का रिश्ता बहुत ख़ास और गहरा होता है। अपने बच्चो के लिए मां हर हद को पार कर जाती है, उनके बिना बोले उनकी हर बात समझ जाती है। आज इस ख़ास मौके पर Ghamasan.com पहुंचा है शहर की उन मदर्स के पास, जिन्होंने अपने काम के साथ-साथ बच्चो की जिम्मेदारियों को भी बखूबी निभाया है।100

तो आईए आपको बताते है नेता मित्तल के बारे में-

नेहा मित्तल जी फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन इंदौर चैप्टर की चेयरपर्सन रह चुकी है। इनकी दो बेटियां है – अनिष्का और कृशांगी। नेहा जी ने बताया कि उन्होंने अपने बच्चो को पूरा समय दिया है। उनकी बेटियां बचपन से ही डिसिप्लिन में रही है और आज उन्हें बहुत अच्छे से समझती है। साथ ही नेहा जी की अपनी दोनों बेटियों के साथ अच्छी बॉन्डिंग है।102

बच्चो के साथ नहीं होना चाहिए स्ट्रिक्ट-
बच्चो को लेकर नेहा जी का कहना है कि हमे कभी भी अपने बच्चो के साथ स्ट्रिक्ट नहीं होना चाहिए। उनका कहना है कि यदि हम बच्चो के साथ स्ट्रिक्ट रहे तो वे हमसे कुछ बात शेयर करने में डरेंगे, तो हो सकता है आगे जाकर हमे ही इस आदत से परेशानी हो। नेहा जी ने कहा कि बचो के साथ स्ट्रिक्ट होने की बजाय उनके साथ अच्छी अंडरस्टैंडिंग और बॉन्डिंग होनी चाहिए।103

जब पापा की तबियत खाराब थी-
उन्होंने एक किस्सा शेयर करते हुए कहा कि जब मेरे पापा की तबियत ख़राब थी, तब मै बहुत परेशान थी। उस समय मेरी बेटियों ने मुझसे आकर कहा कि “मम्मा आप परेशान मत हो भगवान ने हमे आपके पास आपका ध्यान रखने के लिए भेजा है। हम आपका अच्छे से ध्यान रखेंगे।” नेहा जी ने बताया कि ये पल उनके दिल को छूं गया था।106

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here