Breaking News

मोदी की उड़ान योजना में फंड बना रोड़ा, 128 में से 60 ही शुरू हुई फ्लाइट

Posted on: 11 Jun 2018 12:17 by Praveen Rathore
मोदी की उड़ान योजना में फंड बना रोड़ा, 128 में से 60 ही शुरू हुई फ्लाइट

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सस्ती विमान योजना शुरू की थी, जिसका नाम उड़ान दिया गया था। इस उड़ान योजना के तहत दूसरी श्रेणी के शहरों को हवाई मार्ग से जोडऩे का उद्देश्य था। देश में कई राज्यों में ऐसे हवाई अड्डे हैं, जहां से उड़ानें नहीं हैं या इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी के चलते इनका उपयोग नहीं हो रहा है।

pm

मोदी सरकार ने ऐसी हवाई अड्डो से सस्ती उड़ान सेवा शुरू करने की योजना बनाई थी। इसमें किराया महज 2500 रुपए तय किया गया है। दरअसल मोदीजी चाहते हैं कि हवाई चप्पल पहनकर लोग हवाई सफर कर सकें, इसके लिए ये उड़ान योजना शुरू की गई है।

जानकारी के अनुसार नए एयरपोर्ट बनाना और पुरानों को अपग्रेड करने के काम की रफ्तार काफी सुस्त है। साल 2017 में 31 एयरपोर्ट शुरू करने की योजना थी, लेकिन इसमें महज 16 ही शुरू हो पाए हैं। कुछ राज्य सरकारों के पास सामान्य उपकरण खरीदने के लिए फंड नहीं है तो कुछ मामले ऐसे हैं जिनमें एयर ट्रैफिक कंट्रोल टॉवर, सिक्युरिटी सिस्टम, टर्मिनस बिल्डिंग आदि के लिए फंड का टोटा है। ऐसे में मोदी सरकार का दस करोड़ हवाई यात्री जोडऩे का लक्ष्य कैसे पूरा होगा, इसमें संशय है।
गुजरात, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश व कर्नाटक सहित बीस राज्यों को उड़ान योजना से जोडऩे का लक्ष्य है। इसके लिए प्रारंभिक तौर पर 128 मार्ग पर उड़ान शुरू करने का लक्ष्य था, इसके मुकाबले महज 60 मार्ग पर ही उड़ानें शुरू हो सकी है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com