सेन्ट्रल गवर्मेन्ट ने 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारी और पेंशनर्स को त्योहारों पर एक बड़ा बोनस गिफ्ट दीया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला किया है. सरकार ने डीए में 4 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है और इसे 34 फीसदी से बढ़ाकर 38 फीसदी कर दिया है. ये बढ़ोतरी जुलाई से लेकर दिसंबर 2022 के लिए मान्य होगा. कर्मचारियों और पेंशनर्स को 38 फीसदी के हिसाब से महंगाई भत्ते और राहत का लाभ मिलेगा. ये बढ़ोतरी 7 वें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत स्वीकृत फार्मूले पर आधारित है. गरीब कल्याण अन्न योजना  को अगले तीन महीने के लिए और बढ़ाया दिया गया है. ये योजना 30 सितंबर को खत्म हो रही थी. बुधववार को  कैबिनेट की मीटिंग में इस बात का फैसला लिया गया कि मुफ्त अनाज योजना को अगले तीन महीने यानी दिसंबर तक के लिए बढ़ा दिया जाए.

कैसे हुई योजना की शुरुवात

कोविड काल के दौरान शुरू की गई इस योजना के तहत गरीबों को मुफ्त में अनाज दिया जाता है. इस योजना को चलाने के लि सरकार को हर साल 18 बिलियन डॉलर का खर्च उठाना पड़ता है. मुफ्त अनाज योजना के तहत 80 करोड़ लोगों को फ्री में अनाज दिया जाता है. इससे पहले खाद्य मंत्रालय ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा था जिसमें इस योजना को 3 महीने का विस्तार किए जाने की बात कही गई थी.

कुछ महीनों के लिए लागू की गई थी योजना

कोरोना महामारी के दौरान मोदी सरकार ने गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना शुरू की, जिससे करोड़ों लोगों को लाभ पहुंचा. इस योजना को कुछ महीनों के लिए लागू किया गया था लेकिन पिछले कुछ महीनों से लगातार इसका विस्तार किया जाता रहा है. इस योजना के तहत हर व्यक्ति को 5 किलो गेहूं या चावल और एक किलो साबुत चना मुफ्त दिया जाता है. ये राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पहले से उपलब्ध कराए गए सब्सिडी वाले राशन के अतिरिक्त है.

केंद्रीय कर्मचारियों को कितना मिलेगा लाभ

महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 38 फीसदी किया गया है. महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी से केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में जबरदस्त इजाफा संभव है. आंकड़ों के मुताबिक केंद्र सरकार के इस फैसले का फायदा 47 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को होगा.
अभी केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 34 प्रतिशत के हिसाब से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है. लेकिन कमरतोड़ महंगाई के मद्देनजर सरकार इसे 4 प्रतिशत बढ़ाकर 38 प्रतिशत कर दिया है. केंद्रीय कर्मचारियों को अक्टूबर के वेतन के साथ में नए महंगाई भत्ते का पूरा पेमेंट किया जाएगा. अक्टूबर के महीने में कर्मचारियों को उनका पिछले 3 महीने का सारा एरियर भी दिया जाएगा.