Breaking News

बजट बनाने में जुटी मोदी सरकार, वित्त मंत्रालय में प्रवेश पर लगी रोक

Posted on: 04 Jun 2019 19:46 by bharat prajapat
बजट बनाने में जुटी मोदी सरकार, वित्त मंत्रालय में प्रवेश पर लगी रोक

नई दिल्ली : मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश कराने की शुरू कर दी है। जिसके चलते सोमवार से वित्त मंत्रालय में ‘क्वैरनटाइन’ लागू कर दिया जाएगा। जिसके तहत बनाने में जुटे अधिकारियों और कर्मचारियों पर बाहरी लोगों से मिलने पर रोक लगाा दी जाएगी। यह रोक 5 जुलाई तक लागू रहेगी। साथ ही संसद में बजट पेश होने तक आगंतुकों तथा मीडिया पर भी वित्तमंत्रालय में प्रवेश पर रोक लगाा दी गई है।

बता दे कि संसद में बजट नई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किया जाना है। सीतारमण की बजट टीम में वित्त राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर और मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन भी शामिल रहेंगे। बताया जा रहा है कि आधिकारिक टीम की अगुवाई वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग द्वारा की जा रही है। इस टीम में व्यय सचिव गिरीश चंद्र मुर्मू, राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय, DIPAM के सचिव अतनु चक्रवर्ती और वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार शामिल हैं।

गेपनीयता के लिए सुरक्षा कड़ी-

वहीं बजट को गोपनीय रखने के लिए सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। जिसके लिए नॉर्थ ब्लॉक में कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा मंत्रालय में ज्यादातर कंप्यूटरों पर ई-मेल की सेवा ब्लॉक कर दी गई है। वहीं क्वैरनटाइन के दौरान वित्तमंत्रालय में प्रवेश करने या बाहर निकलने के सभी रास्तों पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है।

बताया जा रहा है कि खुफिया ब्यूरो (आईबी) द्वारा दिल्ली पुलिस के सहयोग से बजट बनाने की प्रक्रिया में शामिल अधिकारियों के कमरों में प्रवेश करने वाले लोगों पर नजर भी रखी जाएगी।

सीतारमण के सामने ये हैं चुनौतियां-

वित मंत्री निर्माला सीतारमण को अपने पहले बजटे में कई चूनौतियों का समना करना होगा। जिसमें अर्थव्यवस्था में सुस्ती, बझ़ती बेरोजगारी दर, कृषि क्षेत्र के संकट, गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) में नकदी के संकट, जैसे मुद्दें शामिल है।

इस दिन पेश होगा बजट-

हाल ही गठित हुई 17वीं लोकसभा का पहला सत्र 17 जून से शुरू होकर 26 जुलाई तक चलेगा और 2019-20 की आर्थिक समीक्षा 4 जुलाई को की जाएगी और अगले दिन बजट पेश किया जाएगाा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com