अधिकतर लोग नहीं जानते सड़क के किनारे लगे पीले, हरे, और काले पत्‍थरों का मतलब

0
27

जब हम एक शहर से दुसरे शहर को जाते हैं तो उसके दरमियां सड़क के किनारे कुछ-कुछ दुरी पर कई रंग बिरंगे पत्थर आते हैं, जो हमें दुरी का एहसास कराते हैं। लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि यह पत्‍थर अलग-अलग रंग के होते है। क्‍या कभी आपने गौर किया कि ऐसा क्‍यों होता है, आइए जानते हैं।यह हम सभी लोग जाने हैं कि भारत देश में सड़कों के निर्माण की जानकारी अलग-अलग अथॉरिटी के पास होती है।

नेशनल हाइवे अथारिटी ऑफ इंडिया

https://navbharattimes.indiatimes.com/photo/61481436.cms?imgseze=22676
via

यह विभाग मूल रूप से केंद्र सरकार द्वारा निंयंत्रित होता है इसका संचालन मिनिस्‍ट्री ऑफ ट्रांसपोर्ट एंड हाइवे करता है। जब आप एक शहर से दूसरे शहर प्रस्‍थान कर रहे होते है तो सड़क के किनारे आपको पीले और सफ़ेद रंग का पत्‍थर दिखाई दे तो आपको यह समझ लेना चाहिए कि या राष्‍ट्रीय राजमार्ग है इस तरह के सड़कों को बनाने की जिम्‍मेदारी केंद्र सरकार की है। अगर यह रोड आपको खराब नजर आये तो इसके लिए पूर्ण रूप से केंद्र सरकार जिम्‍मेदार है।

स्टेट हाइवे

via

जिन सड़को को बनाने की जिम्‍मेदारी राज्‍य सरकार करती है उसे स्‍टेट हाइवे कहते हैं। इसका नियंत्रण पूरा नियंत्रण राज्‍य सरकार के पास होता है। सड़के के किनारे यदि आपको सफ़ेद और हरे रंग के पत्‍थर दिखाई दें तो इसका अर्थ यह है कि जिस सड़का का इस्‍तेमाल कर रहे है वह स्‍टेट हाइवे है।

डिस्ट्रिक सिटी रोड़

via

रोड के किनारे यदि आपको काले और सफ़ेद रंग के पत्‍थर दिखाई पड़े तो आप समझ जाये कि यह डिस्ट्रिक सिटी रोड है। जिसका निर्माण उस शहर के निकाय द्वारा किया जाता है।

ग्रामीण रोड़

https://static.punjabkesari.in/multimedia/2018_5image_16_16_447278000road-ll.jpg
via

यदि आपको जाते हुए किसी सड़क के किनारे कोई पत्‍थर लगा दिखाई दे जिसका ऊपर का हिस्‍सा लाल और नीचे का सफ़ेद हो तो आप यह समझ लेना चाहिए जिस सड़प पर आप चल रहे है यह प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क है‍ इस सड़के के खराब होने पर इसकी जिम्‍मेदारी ग्रामीण विकास मंत्रालय की होती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here