Breaking News

रेट पर भारी हापुस का टेस्ट

Posted on: 19 May 2018 09:37 by hemlata lovanshi
रेट पर भारी हापुस का टेस्ट

इंदौर: गांधी हॉल के पास स्थित पोत्दार प्लाजा में आयोजित मेंगो जत्रा में इस बार हापुस का स्टॉक लगभग 25 प्रतिशत कम है। रेट में भी दस प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। एक हजार से लेकर चार सौ रुपए दर्जन हापुस मिल रहे हैं। हापुस की कमी और महंगे होने के बाद भी ग्राहकों में दिवानगी कम नहीं है। ग्राहक एक दो नहीं कई दर्जन आम खरीद रहे हैं।
घमासान डॉटकॉम ने ग्राहकों और होलसेलर से बात कर जाना आखिर क्यों है हापुस को लेकर दिवानगी।

 

जत्रा का इंतजार
इंदौरियंस आम के दिवाने हैं। महंगा होने पर भी जत्रा में ग्राहकों की भीड़ है। भीड़ देखकर लग रहा है कि रेट पर भारी टेस्ट है। ग्राहक कई दर्जन आम खरीद रहे हैं। महंगा होने पर भी काफी डिमांड है। जत्रा में आई अनिता जोशी ने बताया कि मुझे तो जत्रा का इंतजार रहता है। आमों की जो क्वॉलिटी यहां मिलती है और कहीं नही। आम तो बहुत होते हैं, लेकिन हापुस का टेस्ट ही अलग होता है। साल भर जत्रा का इंतजार रहता है। कविता मुले ने बताया कि पूरा परिवार ही जत्रा में आता है केवल हापुस के लिए।

jatra 1

25 प्रतिशत कम स्टॉक
जत्रा में पांच सालों से आ रहे आमों के होल सेलर डॉक्टर विश्वास केलकर ने बताया कि इस बार आमों का उत्पादन कम हुआ है जिसके कारण 25 प्रतिशत आमों के स्टॉक में कमी आई है। आम के दामों में भी फर्क पड़ा है इस साल 10 प्रतिशत महंगा है। हमारी आमों की खेती है आम के सारे प्रोडक्ट खुद बनाते है। इसमें सबसे ज्यादा डिमांड आम पापड़, आम मावा, आम का अचार, आम शरबत के साथ ही आम से बने हर प्रोडक्ट की डिमांड रहती है। सबसे ज्यादा डिमांड आम मावा की होती है। इस बार जत्रा में आमों की डिमांड देखकर लग रहा है कल सुबह ही स्टॉक खत्म हो जाएगा।

dr kelkar

कैमिकल से नही पकाते
डॉ. केलकर ने बताया कि आमों को पकाने के लिए किसी कैमिलक का प्रयोग नही करते हैं। प्राकृतिक रूप से पकाते हैं। आम का कलर और टेस्ट अच्छा होता है।

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com