इन्दौर। वर्कशॉप एवं विदयुत प्रभारी जीतू यादव ने बताया कि शहर की स्वच्छता एवं सुंदरता को बेहतर बनाए रखने के उद्देश्य से आज महापौर श्री पुष्यमित्र भार्गव द्वारा दशहरा मैदान में निगम के सफाई एवं सीवर सेक्शन मशीनों से युक्त 07 तरह के कुल लागत रुपए 17 करोड से अधिक के 110 वाहनों का विधि-विधान से पुजन कर लोकार्पण किया गया।

इस अवसर पर सभापति मुन्नालाल यादव, पूर्व आईडी अध्यक्ष मधु वर्मा, महापौर परिषद सदस्य जीतु यादव, राजेन्द्र राठौर, निरंजनसिंह चौहान, अश्विन शुक्ल, अभिषेक शर्मा, नंदकिशोर पहाडिया, मनीष शर्मा मामा, पार्षद योगेश गेंदर, हरप्रीत कौर लुथरा, कंचन गिदवानी, बरखा दुबे, नीता राठौर, संध्या यादव, राजीव जैन, कमल लडढा, गौहर, प्रशांत बडवे, रूपाली पेढांरकर, अन्य पार्षदगण, अपर आयुक्त मनोज पाठक, मनीष पांडे, प्रकाश नागर व अन्य उपस्थित थे। इस अवसर पर महापौर द्वारा बहुत ही कम समय में प्लान कर निगम वर्कशॉप में वाहनो के लिये किये गये कार्यो के लिये अपर आयुक्त  मनोज पाठक, मनीष पांडे, सहायक यंत्री प्रकाश नागर को पुष्पगुच्छ देकर सम्मान किया गया।

महापौर पुष्यमित्र. भार्गव ने कहा कि इंदौर स्वच्छता में लगातार छटी बार नंबर वन स्वच्छ शहर रहा है, शिखर पर पहुंचना आसान है, किंतु शिखर पर बना रहना कठिन होता है, इंदौर शहर के स्वच्छता अभियान के पैमाने को बनाये रखना हमारा लक्ष्य है। स्वच्छता अभियान में संसाधनो की आवश्यकता की जरूरत को दृष्टिगत रखते हुए, निगम द्वारा आज सफाई व सीवरेज सफाई कार्यो के लिये 110 वाहनो को वार्डो में आवंटित किया जावेगा। सफाई को मुलमंत्र बनाकर स्वच्छता के शिखर पर बने रहना हमारा लक्ष्य है, इसके लिये संसाधनो की आवश्यकता है, जिसके साथ ही इंदौर के जागरूक नागरिको के सहयोग से हम स्वच्छता का सातवा आसमान हासिल करेगे।

महापौर भार्गव ने कहा कि आज निगम वर्कशॉप के 7 तरह के 110 वाहनो को लोकार्पण किया गया है, हमारी परिषद के गठन के समय हमारी प्राथमिकता के कार्यो को दृष्टिगत रखते हुए, बहुत ही कम समय में प्लान कर वर्कशॉप प्रभारी श्री जीतु यादव, अपर आयुक्त मनोज पाठक व श्री मनीष पांडे द्वारा निगम में नवीन वाहन प्राप्त किये है। उन्होने कहा कि इंदौर के इतिहास में सबसे बडा प्रवासी भारतीय सम्मेलन इंदौर मंे होने जा रहा है, जिसमें इंदौर अतिथि देव भवः की तर्ज पर कार्य करेगा, जिसमें निगम अपने संसाधनो के माध्यम से स्वच्छता अभियान के साथ ही इंदौर को स्वच्छ व सुंदर बनाने में सहयोग करेगा।

वर्कशॉप प्रभारी जीतू यादव ने बताया कि माननीय महापौर एवं अनय अतिथियों द्वारा 17 करोड से अधिक की लागत से लोकार्पित 110 वाहनों में 5.5 क्यूबिक मीटर डोर टू डोर क्लोज टिपर के सीएनजी युक्त 60 वाहन प्रति वाहन लागत 13,32,025 रूपये यह डोर टू डोर वाहन है, जिसमें कचरा उठाने की क्षमता 5.5 क्युबिक मीटर होकर लगभग 3 टन कचरा 6 बिन में लिया जावेगा।

5.5 क्युबिक मीटर ओपन गारबेज टिपर के डीजलयुक्त 25 वाहन प्रति वाहन लागत 12,38,157 रूपये के होकर ओपन वाहन है, जिनमें 3 टन वजन उठाने की क्षमता है। जेटिंग रॉडिंग ग्रेबिंग मशीन के डीजल युक्त 05 वाहन प्रति वाहन लागत 33,39,000 रूपये होकर 6 टन क्षमता का वजन उठा सकते है, यह प्रेशर जेटिंग से ड्रेनेज लाईन को खोलने, राडिंग मशीन के द्वारा चौक लाईन को खोलने के साथ ही चौक चेम्बर से सीवर को बाहर निकालने का कार्य करता है।
हाई फलो सक्शन मशीन के डीजलयुक्त 5 वाहन प्रति वाहन लागत 49,70,000 रूपये होकर 6 टन क्षमता के वाहन को चौक बडी लाईनो में ड्रेनेज लाईन का पानी खींचकर चेम्बर सफाई, निर्माण में सुगमता हेतु उपयोगी है।

Also Read: Indore : वित्तीय सशक्तिकरण के लिए डाकघर में कैंप लगाकर दी जा रही बचत बैंक की विभिन्न योजनाओं की जानकारी

सक्शन मशीन के डीजलयुक्त 5 वाहन प्रति वाहन लागत 13,50,000 रूपये होकर, 2.5 टन क्षमता वजनी के साथ ही जल जमाव की स्थिति, संकरी गलियों की चोक ड्रेनेज लाईन के पानी को खोलकर सफाई करने में उपयोगी है। ग्रेबिंग कम रॉडिंग डीजल युक्त 05 वाहन प्रतिवाहन लागत 13,72,206 रूपये होकर, संकरी गलियों में चौक छोटी डेनेज लाईन को राडिंग के माध्यम से खोलने एवं चेम्बर की सफाई करने में उपयोगी है। साथ ही जेटिंग मशीन के डीजलयुक्त 05 वाहन प्रति वाहन लागत 12,10,000 रूपये होकर संकरी गलियों में चौक को जेटिंग मशीन के माध्यम से खोलने में उपयोगी है।