शिव ‘राज’ में मिला था रेप पीडिता को घर, कमलनाथ ‘राज’ में छिना

0
57

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई आठ वर्षी बच्ची को शिवराज शासन में इंदौर शहर में एक घर और दुकान आवंटित की गई थी। जिसे बुधवार को इंदौर विकास प्राधिकरण ने खाली करने के निर्देश जारी किए है। यह निर्देश इस कारण दिए गए क्योंकि पिछली भाजपा सरकार ने कोई आधिकारिक आदेश जारी नहीं किया था।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक तत्कालीन सीएम शिवराज सिंघह चौहान ने द्वारा सामूहिक दुष्कर्म पीडिता को पुनर्वास पैकेज का एलान किया गया था। इसमें इंदौर में एक एक घर और दुकान आवंटन करना शामिल था। आईडीए ने परिवार को जिला प्रशासन में एक घर आवंटित किया था और बच्ची के पिता को मंदिर स्थल में एक दुकान आवंटित की थी। बच्ची और उसके दो भाई बहनों को इंदौर के प्रतिष्ठित स्कूल में दाखिला कराया गया था।

8 वर्षीय रेप पीड़िता फ़िलहाल कक्षा 3 में पढने जाती है। पीडिता के साथ 6 जून, 2018 को कथित तौर पर 2 दरिंदों ने मंदसौर में दरिंदगी की थी। उसे विद्यालय के नजदीक से किडनैप कर लिया था। जिसके बाद पीड़िता के साथ रेप किया और गला काटकर तडपते हुए मरने के लिए छोड़ दिया था। स्थानीय लोगों को बच्ची खून से लथपथ झाड़ियों में पड़ी हुई मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here