ममता को EVM पर भरोसा नहीं, बोलीं-हमें EVM नहीं चाहिए, हम बैलट पेपर से मतदान चाहते हैं

0
55
mamta banerjee

लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद ममता बनर्जी पार्टी के प्रदर्शन में कोई कमी नहीं छोड़ रही हैं. इसी के चलते उन्होंने सोमवार को पार्टी के नव निर्वाचित सांसदों, विधायकों और मंत्रियों की बैठक की. करीब 2 घंटे तक चली इस बैठक में ममता ने पश्चिम बंगाल में बीजेपी के उभार को रोकने के लिए कई आंदोलनों तैयार किए हैं. ममता बनर्जी बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे का जवाब बांग्ला सांस्कृतिक पहचान को उभार कर देने की योजना बना रही हैं.

ममता बनर्जी ने कहा कि “हमें ईवीएम नहीं चाहिए, हम बैलट पेपर से मतदान चाहते हैं.” उन्होंने लोकतंत्र बचाने के लिए बैलट पेपर को वापस लाने की मांग की है. ममता ने कहा कि वह इवीएम के खिलाफ पूरे देश में दूसरे राजनीतिक दलों के सहयोग से घर-घर अभियान चलाएंगी. अमेरिका भी ईवीएम को अलविदा कह चुका है. उन्होंने कहा कि मात्र 2 फीसदी ईवीएम वैरीफाइड है जबकि 98 प्रतिशत ईवीएम वैरीफाइड नहीं है. ममता ने कहा कि ईवीएम से मिला जनादेश लोगों का जनादेश नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि एक लाख ईवीएम मशीनें गायब हैं. मतदान के दौरान जिन मशीनों को बदला गया वो निष्पक्ष मतदान के लिए प्रोग्राम्ड नहीं थीं, वे ईवीएम एक खास पार्टी के लिए प्रोग्राम किए गए थे. ममता ने कहा कि क्या उन्होंने ईवीएम मशीनें कुछ तरीके से प्रोग्राम्ड कर दी थी इसलिए वे 23 सीटें जीतने को लेकर आश्वस्त थे. ममता ने कहा कि वे सभी पार्टियों से आग्रह करती हैं कि EVM पर एक कमेटी बननी चाहिए जो ऐसे मामलों की जांच करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here