डॉक्टरों की हड़ताल के आगे झुकी ममता, मारपीट को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

0
36

पश्चिम बंगाल में जारी डाॅक्टरों के हड़ताल के चलते राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्ती ने शनिवार शाम को प्रेस काॅन्फ्रेंस की। जिसमें उन्होने सभी डाॅक्टरों को वापस काम पर लौटने की अपील की है। साथ ही उन्होने कहा है कि हड़ताली डाॅक्टरों पर बाहरी राजनीतिक दबाव है।

प्रेस काॅन्फ्रेंस में सीएम ममता ने डाॅक्टरों के साथ मारपीट की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होने कहा कि हड़ताली डाॅक्टरों पर राज्य सरकार की ओर से बल का प्रयोग नहीं किया जाएगा। ना ही हमने किसी को गिरफ्तार किया है ना ही किसी पर एम्सा लगाया है। हम राज्य में जल्द से जल्द सामान्य चिकित्सा सेवाएं शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में डाॅक्टर के साथ हुई मारपीट के बाद डाॅक्टरों ममता सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल लिया था और हड़ताल पर चले गए थे। वहीं बंगाल में जारी इस हड़ताल का असर देशभर में देखने को मिल रहा है। इधर दिल्ली के एम्स समेत 18 बड़े अस्पतालों के डॉक्टर भी हड़ताल पर हैं।

वहीं बंगाल में जारी हड़ताल ने केन्द्र सरकार की भी चिंता बढ़ा दी है। जिसके चलते केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को एडवाइजरी भाी जारी की है। साथ ही रिपोर्ट भी तलब की गई है।

गृह मंत्रालय की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि ‘मंत्रालय ने डॉक्टरों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों और मेडिकल संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की है। ये लोग देश के अलग-अलग हिस्सों से आए थे और अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित थे। पश्चिम बंगाल सरकार से इस बावत अपील की जाती है कि डॉक्टरों के हड़ताल पर एक विस्तृत रिपोर्ट जल्द से जल्द भेजी जाए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here