मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  ने घोषणा की है कि राजधानी भोपाल में भारत माता चौराहे से पॉलिटेक्निक चौराहे तक का रास्ता ‘लाडली लक्ष्मी पथ’ के नाम से जाना जाएगा. वहीं, मध्य प्रदेश के सभी 52 जिलों में एक-एक मार्ग का नाम ‘लाडली लक्ष्मी पथ’ किया जा रहा है. इस पथ के दोनों तरफ लाडली बेटियों को योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं का प्रचार प्रसार होगा.

‘लाड़ली लक्ष्मी वाटिका’ का लोकार्पण

सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा, “मेरी लाडली लक्ष्मी बेटियां, तुम हमेशा खुश रहो, आगे बढ़ती रहो. तुमने अगर सफलता का आसमान चूम लिया, तो मामा की जिंदगी धन्य हो गई. भोपाल में ‘लाड़ली लक्ष्मी वाटिका’ का लोकार्पण कर लाडलियों के साथ पौधारोपण किया.

 

52 जिलों में बदलेगा नाम

सीएम शिवराज ने बेटियों को संबोधित करते हुए कहा, “आज सभी 52 जिलों में एक रोड का नाम “लाड़ली लक्ष्मी पथ” रखा जा रहा है. वहां लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रचार-प्रसार का भी काम किया जाएगा. लाड़ली लक्ष्मी वाटिका सुरक्षित रहेगी. जैसे जैसे लाड़ली लक्ष्मी वाटिका के पेड़ बढ़ेंगे, मेरी बिटियां भी लगातार आगे बढ़ती जाएंगी.”

इसके बाद सीएम शिवराज ने छात्राओं से आग्रह किया कि अपने-अपने जन्मदिन पर एक पेड़ जरूर लगाएं और उसका ख्याल रखें. साथ ही उन्होंने कामना की कि प्रदेश की बेटियां आत्मविश्वास से भरपूर रहें और जैसे उनके पौधे बड़े होकर लोगों को ऑक्सीजन देंगे, उनकी मदद करेंगे, वैसे ही बेटियां भी बड़े होकर सबकी मदद करें.  मध्य प्रदेश सराकर द्वारा शुरू की जा रही लाड़ली लक्ष्मी योजना 2.0 के तहत मुख्यमंत्री शिवराज बेटियों को प्रोत्साहन राशि देने वाले हैं. इस कार्यक्रम का आयोजन भोपाल के रविंद्र भवन में आयोजित किया जा रहा है. इस योजना के तहत बालिकाओं को उच्च शिक्षा के लिए दो किस्तों में 25 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का प्रावधान किया गया है.