महेंद्र हार्डिया एक अच्छे राजनीतिज्ञ के साथ ही एक अच्छे इंसान भी हैं

0
26

महेंद्र हार्डिया का नाम सामने आते ही हमारे सामने एक ऐसा चेहरा आ जाता है जो हमेशा मुस्कुराते हुए ना केवल लोगों की समस्याएं सुनते हैं बल्कि बड़ी सरलता से सबके साथ मिलते हैं और कहीं से ऐसा नजर नहीं आता कि वे इतने बड़े राजनीतिज्ञ हैं. महेंद्र हार्डिया 10 सालों तक भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष रहे हैं और इसके बाद भी लगातार तीन बार से विधायक हैं एक बार में मंत्री भी रह चुके हैं उनसे मिलकर बिल्कुल महसूस नहीं होता की तीन बार के विधायक और मंत्री रहे व्यक्ति से हम मुलाकात कर रहे हैं.

Related image
via

वे इंदौर के सबसे ज्यादा लोकप्रिय विधायक और नेता है उनसे मिलना बेहद आसान है. कार्यकर्ताओं को इतना विश्वास होता है कि अगर वह उनसे मिलने के लिए गए तो मुलाकात जरुर होगी उनका दरबार ने कार्यकर्ताओं के लिए सदैव खुला रहता है. महेंद्र हार्डिया की विशेषताओं पर चर्चा की जाए तो पूरी किताब लिखी जा सकती है उन्होंने क्षेत्र क्रमांक 5 के अपने सभी मतदाताओं को सरकारी योजनाओं का सबसे ज्यादा लाभ दिलाया है चाहे वह तीर्थ दर्शन योजना हो या सरकारी योजनाएं पूरे मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा सरकारी योजनाओं का लाभ किसी क्षेत्र में मिला है तो वह क्षेत्र क्रमांक 5 है. मतदाताओं तक सरकार की सभी योजनाओं की एक-एक जानकारी पहुंचाने के लिए महेंद्र बाबा ने एक ऐसा सिस्टम विकसित किया है जिससे सारी सूचनाएं लोगों तक पहुंच जाती है आश्चर्य की बात तो यह भी है कि हाईटेक टेक्नोलॉजी अपनाने के कारण और इस सिस्टम का सबसे ज्यादा उपयोग करने के कारण महेंद्र बाबा को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों ₹100000 का पुरस्कार भी मिल चुका है. मध्य प्रदेश में महेंद्र बाबा ने टेक्नोलॉजी के माध्यम से अपना नेटवर्क विकसित किया है उसका अनुसरण कई विधायकों ने करना चाहा है कई विधायकों ने इस बारे में जानकारियां ली है.

Image result for mahendra hardia indore award
via

महेंद्र बाबा आज क्षेत्र क्रमांक 5 में बेहद लोकप्रिय हैं यारों की यार है , चाहे कांग्रेस हो चाहे भाजपा वे सबमें समान रूप से लोकप्रिय है. महेंद्र हार्डिया के बारे में यह भी कहा जाता है कि वह बहुत सहज इंसान है उनकी दिनचर्या भी ऐसी ही है ज्यादातर समय वे अपने कार्यकर्ताओं के लिए सुरक्षित रखते हैं सुबह 5:00 बजे प्रातः भ्रमण से उनकी दिनचर्या शुरू होती है जो देर शाम तक जारी रहती है. महेंद्र हार्डिया जोड़ तोड़ की राजनीति से बहुत दूर है वह जोड़ तोड़ की राजनीति में भरोसा करने की बजाय अपने कामों पर अधिक ध्यान देते हैं और कोशिश करते हैं कि किसी भी कार्यकर्ता तो ये ना महसूस हो कि बाबा ने उनकी बात नहीं सुनी या बाबा ने उनके लिए काम नहीं किया. बसचमुच आज की राजनीति में महेंद्र हार्डिया जैसे लोग बिरले ही होते जा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here