शिवसेना ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा, राज्यपाल पर उठाए सवाल

राज्यपाल की सिफारिश के खिलाफ शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। शिवसेना ने इसके खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की है। शिवसेना की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट कल सुनवाई करेगा।

0
53
uddhav thackeray

मुंबई: मुंबई में सरकार गठन को लेकर अभी भी सस्पेंस बरकरार है। राज्यपाल ने राज्य में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की है। केंद्रीय कैबिनेट ने भी महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की मंजूरी दी है। राज्यपाल की सिफारिश के खिलाफ शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। शिवसेना ने इसके खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की है। शिवसेना की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट कल सुनवाई करेगा।

शिवसेना का कहना है कि उन्हें दावा पेश करने के लिए सिर्फ 24 घंटे का समय दिया गया, जबकि बीजेपी को 48 घंटे का वक्त दिया गया था। शिवसेना ने आरोप लगाया कि राज्यपाल ने सरकार बनाने के अवसर से इनकार करने के लिए बीजेपी के इशारे पर जल्दबाजी में काम किया।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि एनसीपी ने आज सुबह 11:30 बजे राज्यपाल को एक खत लिखा था, जिसमें दो दिन का समय मांगा था। राज्यपाल ने एनसीपी के पत्र को आधार बना कर गृहमंत्रालय से महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की।

गौरतलब है कि परिणाम आने के बाद से महाराष्ट्र में सियासी उठा-पटक जारी है। भाजपा के सरकार बनाने से पीछे हटने के बाद राज्यपाल ने सरकार गठन के लिए शिवसेना को न्योता दिया था लेकिन शिवसेना बहुमत का आंकड़ा नहीं जुटा पाई। इसके बाद राज्यपाल ने सरकार बनाने प्रयास करने के लिए 54 विधायकों के साथ तीसरे सबसे बड़े दल एनसीपी को आमंत्रित किया। एनसीपी के पास आज यानी मंगलवार की शाम तक का समय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here