यह भगोरिया नहीं ‘भौंगर्या’ हॉट है

0
64
bhagobhago

भौंगर्या हॉट को गलत नाम देकर जैसे- भगोरिया पर्व प्रणय पर्व आदिवासियों का वैलेंटाइन डे आदि सेस का दुष्प्रचार ना किया जाए। इसमें किसी भी देवी देवता की पूजा नहीं की जाती है और ना ही इसमें नए रिश्ते तय होते हैं और ना ही शादी होती है। यहां आदिवासियों का कोई त्यौहार ना होकर केवल और केवल हॉट बाजार होता है।

जिसमें सभी समाज के लोग होलिका पूजन की सामग्री खरीदते हैं। भौंगर्या शब्द का वास्तविक अर्थ होलिका पूजन की सामग्री खरीदना है। जिसमें बुकड़ा गुड़ कंगन हार आदि वस्तुएं शामिल होती है। इसकी वास्तविकता एवं आदिवासी समाज को होने वाली आर्थिक एवं सामाजिक होने वाली आर्थिक हानि से समाज को अवगत कराने में समाज के अन्य लोगों के साथ ही इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया भी सहयोग प्रदान करे।

सचिन पटेल व कमलेश भोले राजपुर

पार्षद बंटी जमरे, मुन्ना मोरे, सेंवती जमरे, जितेन्द्र जमरे, दशरथ कन्नौज, पप्पु मोरे, कमल अलावा, दिलीप चौहान, बंटी जमरे जमरे, विकास पटेल, दिनेश क्षैत्रे, पातु मोरे, मिथुन गोथरे, संतोष अचाले दिनेश मोरे, विजय जमरे,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here