मध्य प्रदेश : भोपाल में चिकित्सा शिक्षा विभाग का क्लर्क निकला करोड़ों का आसामी, आँखों में धूल झोंकने के लिए चलता था टू व्हीलर से

जानकारी के अनुसार आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ के द्वारा मारे गए छापें में भोपाल के चिकित्सा शिक्षा विभाग के क्लर्क हीरो केसवानी के घर पर लगभग 85 हजार रुपए नगद और करोड़ों रुपए कीमत की चल और अचल सम्पत्ति प्राप्त हुई है। करोड़ों की जमीन और लाखों के जेवर इस छापे में बरामद होने की खबर सूत्रों से प्राप्त हुए है, जिन की अनुमानित कीमत 4 से 5 करोड़ के लगभग आंकी गई है ।

आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EOW) के द्वारा मारे गए छापें में भोपाल के चिकित्सा शिक्षा विभाग (Medical Education Department) का क्लर्क करोड़ों का आसामी निकला है। चिकित्सा शिक्षा विभाग के उक्त क्लर्क का नाम हीरो केसवानी मालुम हुआ है। जानकारी के अनुसार आरोपी हीरो केसवानी ने जीव सेवा संस्थान की बहुमूल्य जमीन कुछ दिन पहले खरीदी थी, जिसके बाद उसके खिलाफ शक आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EOW) को हुआ था और इस मामले की जाँच शुरू कर दी गई थी।

Also Read-उत्तराखंड : हरिद्वार जिला जेल में कोरोना से हाहाकार, 70 कैदी हुए पॉजिटिव, सैकड़ों की रिपोर्ट आना है बाकी

मिले 85 लाख कैश और करोड़ों की चल अचल सम्पत्ति

जानकारी के अनुसार आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ के द्वारा मारे गए छापें में भोपाल के चिकित्सा शिक्षा विभाग के क्लर्क हीरो केसवानी के घर पर लगभग 85 हजार रुपए नगद और करोड़ों रुपए कीमत की चल और अचल सम्पत्ति प्राप्त हुई है। करोड़ों की जमीन और लाखों के जेवर इस छापे में बरामद होने की खबर सूत्रों से प्राप्त हुए है, जिन की अनुमानित कीमत 4 से 5 करोड़ के लगभग आंकी गई है ।

Also Read-भारतीय नौसेना में निकली भर्ती, सौ से अधिक हैं पद, दसवीं पास कर सकते हैं आवेदन

आँखों में धूल झोंकने के लिए चलता था टू व्हीलर से

आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EOW) ने भोपाल में चिकित्सा शिक्षा विभाग के जिस क्लर्क हीरो केसवानी के घर छापा मारा है, जाँच में उसे बहुत ही शातिर दिमाग का अपराधी पाया गया है। जानकारी के अनुसार क्लर्क हीरो केसवानी अपने अवैध कमाई से करोड़पति होने के बात को बहुत ही शातिराना तरिके से छुपाता रहा है। बताया जा रहा है कि उक्त क्लर्क अपने घर से दिखाने के लिए ऑफिस तक टू व्हिलर से आता जाता था, जिससे कि उसके पास करोड़ों की अवैध दौलत का पता नहीं चल सके।