मध्यप्रदेश – सीआरपीएफ ने पुलिस पर लगाया गाली देने का आरोप| Madhya Pradesh – CRPF accused to the police for abusing

0
34

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर की जा रही छापेमारी के दौरान रविवार को पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के बीच विवाद हो गया था। जिसके बाद मंगलवार को भी प्रदेश पुलिस और सीआरपीएफ एक-दूसरे के आमने-सामने नजर आए। जिसके चलते सीआरपीएफ ने अब पुलिस पर उन्हें गालियां देने का आरोप लगाया।

सीएम कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के सहयोगी अश्विन शर्मा के घर पर आयकर विभाग द्वारा की गई छापेमारी पर सीआरपीएफ के एमएस वर्मा ने कहा कि ‘‘राज्य पुलिस को नहीं पता था कि ऐसा कोई ऑपरेशन होने वाला है। एसएचओ शायद असुरक्षित हो गए थे। उन्होंने मुझसे कहा कि हम क्यों इस क्षेत्र में बिना उनकी इजाजत के ऑपरेशन कर रहे हैं।”

वर्मा ने आगे कहा कि ‘‘मैं उन्हें केवल यह बता सकता था कि यह आपके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। हम सरकार के आदेशों का पालन कर रहे हैं। छापेमारी अब खत्म हो चुकी है। संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी और डीएसपी ने सीआरपीएफ के साथ बदसलूकी की और हमें गालियां दीं। चूंकि मामला बहुत ऊंचे स्तर पर चला गया है। ऐसे में यदि मुझसे पूछा जाएगा तो मैं निश्चित तौर पर इसके बारे में बताउंगा।”

वहीं इस मामले में गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा था कि ‘‘हमारा सीआरपीएफ से कोई टकराव नहीं है। लेकिन सूबे की कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी हमारे पास है। अगर किसी केंद्रीय एजेंसी के कारण सूबे की आम जनता को कोई दिक्कत होगी या कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने का खतरा पैदा होगा, तो हम जरूर उचित कदम उठायेंगे।”

बता दे कि आयकर विभाग ने मुख्यमंत्री के करीबियों के 50 ठिकानों पर  छापेमारी की बड़ी कार्यवाही करते हुए लगभग 281 करोड़ की संपत्ति जब्त की है। बता दे कि आयकर विभाग ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों कार्यवाही की है। विभाग द्वारा मुख्यमंत्री के भांजे रातुल पुरी, निजी सचव और पूर्व पुिलस अधिकार प्रवीण कक्कड़, सलाहकार रहे राजेन्द्र कुमार मिगलानी और भोपाल मे प्रतीक जोशी और अश्विनी शर्मा के लगभग 50 ठिकानों पर छापेमारी की कार्यवाही की है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here