Breaking News

ऐसे मुख्यमंत्री का कायल कौन ना होगा

Posted on: 30 Jan 2019 10:55 by Ravindra Singh Rana
ऐसे मुख्यमंत्री का कायल कौन ना होगा

अर्जुन राठौर

मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा राहुल गांधी के खिलाफ टिप्पणी करने वाले शिक्षक को बहाल करने के आदेश दे दिए गए इससे पहले कमल नाथ द्वारा उस शिक्षक को भी बहाल करने के आदेश दे दिए गए थे जिसने उनकी खुद की आलोचना की थी।

कमलनाथ के दोनों कदम साबित करते हैं कि मध्य प्रदेश में अभिव्यक्ति की आजादी और उदारता का एक नया दौर शुरू हो गया है मुख्यमंत्री कमलनाथ ने खुद यह कहा है कि वे नफरत की वजह प्रेम की राजनीति करने में भरोसा रखते हैं और उनका विश्वास अभिव्यक्ति की आजादी में है।

लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी आलोचना नहीं होना चाहिए जिससे दूसरे को अपमानित किया जाए और उसे जलील होना पड़े सबसे बड़ी बात तो यह है। कमल नाथ द्वारा दोनों शिक्षकों को बहाल करने से शिक्षा जगत ही नहीं सभी कर्मचारियों में यह संदेश गया है कि मध्यप्रदेश में सकारात्मक आलोचना की अभी भी गुंजाइश है और मुख्यमंत्री द्वारा उठाए गए कदमों से यह भी साबित हो गया है की कमलनाथ बदले की राजनीति या नफरत की राजनीति में भरोसा नहीं करते हैं।

वे विचारों की स्वतंत्रता का भी स्वागत करते हैं। कुल मिलाकर इस समय कमल नाथ द्वारा उठाए गए इन दोनों कदमों से यह तो साबित हो ही जाता है ऐसे मुख्यमंत्री का कायल भला कोन ना होगा।

Read More:-

पिछली सरकार में फ़र्ज़ी क़र्ज़ का बड़ा घोटाला: कमलनाथ

मप्र : सीएम कमलनाथ की संवेदनशीलता का एक और उदाहरण…

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com