बादलों के “अंधेरे” में खोया विश्वकप

0
19

नॉटिंघम से परीक्षित यादव

नई दिल्ली: विश्व कप में जैसे ही दिलचस्पी बढ़ने लगती है ,वैसे ही या तो मैच एकतरफा हो जाते हैं, या बारिश की मार पड़ जाती है। काले बादलों के साए में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के मुकाबले ने माहौल तो बनाया था लेकिन आज नॉटिंघम में भारत न्यूजीलैंड का मुकाबला धूल सकता है। मौसम विभाग ने रुक रुक कर दिन भर पानी गिरने का अंदाजा लगाया है ।

यहां का मौसम विभाग हमारे यहां जैसा नहीं है, कि बारिश का आसार बताएं और धूप खिल जाए। 96 फ़ीसदी तक आकलन सटीक बैठता है। बारिश से खेल तो खराब हो ही रहा है ।हो-हल्ला करने वाले भी घरों में दुबक गए हैं। नॉटिंघम में दाखिल होते ही कुछ पोस्टर तो नजर आए लेकिन क्रिकेट की बात करने वाला कोई नहीं मिला। बस में भारत के कुछ पत्रकार थे वह भी बस इसलिए नॉटिंघम पहुंचे हैं, ताकि दिन आसानी से कट जाए और अच्छा खाना मिल जाए।

भारत -वपाकिस्तान से पहुंचे यहां पत्रकारों को महंगाई ने हिला कर रख दिया है। जो अंदाजा घर से लगाकर निकले थे उस से 10 गुना ज्यादा पाया है। इंग्लैंड इंग्लैंड में आने-जाने और ठहरने की बुकिंग पहले नहीं की तो रुपय की चीज से सैकड़े में मिल रही है। चर्चा यह भी है कि लंबा चलने की वजह से विश्व कप बोरिंग हो रहा है । फिर मैचों का पानी मे धूल जाना भी हौसले को तोड़ रहा है। कुछ का तो यह भी कहना है कि यह विश्व कप आईपीएल जैसा लग रहा है।

सब टीमों को एक दूसरे के खिलाफ खेलना है। कप्तानों की परेशानी यह है कि खिलाड़ी और टीम कॉन्बिनेशन से ज्यादा बादलों का गणित बिठाना पड़ रहा है। इसमें चूक भी हो रही है। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर बॉलिंग इस आस में चुनी थी कि गेंद मिलेगी और कंगारुओं को घड़ी कर देंगे, लेकिन हुआ ये की फिंच और वार्नर ने ऐसी मार मारी की बचना मुश्किल हो रहा था। गनीमत रही कि आमिर ने 400 नहीं बनने दिए।

साउथ अफ्रीकी कप्तान डुप्लेसिस से भी भारत के खिलाफ गलती हुई थी, टॉस जीतकर बल्लेबाजी ले ली और ढाई सौ तक भी नहीं पहुंच पाए। नतीजा ये है कि अफ्रीका अब विश्व कप से बाहर होने की कगार पर हैं। बांग्लादेश से मिली हार ने रही सही कसर पूरी कर दी ।टॉप 4 के लिए अब मुकाबला 6 टीमों में दिख रहा है। श्रीलंका ,साउथ अफ्रीका ,बांग्लादेश और अफगानिस्तान की कहानी गड़बड़ है। बाकी 6 में से ही टॉप फॉर चुना जाना है। इसमें भी वेस्टइंडीज और पाकिस्तान आत्मघाती बम जैसे हैं। न जाने किस से हार जाएं और न जाने किस को हरा दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here