बारिश के कारण हुआ 10,000 करोड़ का नुकसान : मोहन्ती

0
87
mohanti

इंदौर। मध्यप्रदेश में जारी भारी बारिश को लेकर मुख्य सचिव सुधीरंजन मोहन्ती की सोमवार को इंदौर प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। जिसमे उन्होंने बताया कि बारिश के चलते सारे राहत कार्य शुरू हो चुके हैं। साथ ही डूब प्रभावित गाँव के नुकसान की रिपोर्ट बन गई है इसके अलावा भोपाल व उज्जैन संभाग की पूरी रिपोर्ट बनाई गई है।

प्रमुख सचिव ने कहा कि पूरे मध्य्प्रदेश में 33 प्रतिशत बारिश इससे बार अधिक हुई है । तीन महीने पहले रेवेंयू डिपार्टमेंट ने सर्वे रिपोर्ट तैयार की थी कि बाढ़ की स्थिति आ सकती है तो हमने तीन माह पहले से तैयारियां शुरू की और जितने भी बड़े बड़े डेम के अगस्त में भी गेट खोले थे । लेकिन 7 दिनों में प्रतापगढ़ में तेज पानी से जो फ्लो पानी का आया था और वोटर लेवल गांधी सागर के बेक वोटर से रामपुर में पानी भराया लेकिन जहा भी पानी भरा वह कोई डूबने से मौत नही थी।

मोहंती ने कहा एफआरएल भर जाने से इतना ज्यादा इनफ्लो आया उसे मैनेज करने के लिए पहले तो बांध की सेफ्टी पर भी धयान दिया। एडीआरएफ और कई अधिकारियों के साथ संपर्क में रहे , बीच मे अफवाह भी उड़ी की ग़ांधी सागर डेम में क्रेक आया जो गलत है ।

प्रमुख सचिव ने कहा, राजस्थान के 3 डेम के भी गेट खोले गए, लेकिन बेक वोटर से रामपुर और 34 गांव में पानी भर गया लेकिन वहा से लोगो को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है । अब डेढ़ दिनों में पानी एफ आर एल से ननीचे आएगा । और याद तेज पानी नही आया तो हम सेफ स्थिति में आ जाएंगे।अब से 10 पानी नही बढ़ता है तब तक ग़ांधी सागर बांध तब तक सुरक्षित है

गांधी सागर के अलावा भिंड में 3 500 और कई स्थानों पर लोग इफेक्टेड है वहा भी कार्यवाही कर रहे है । मुरैना में 5 तहसील इफेक्ट है वहा भी 35 गांव में पानी बढ़ता है तो कार्य कर रहे है आर्मी और होमगार्ड तैनात है एसडीआरएफ की टीम भी है श्योपुर में भी राहत कार्य जारी है ।

प्रमुख सचिव एस आर ने कहा कि हम क्रॉप के डेमेज को लेकर भी तैयारी और एस्टिमेट ऑफ डेमेज बना लिया है जो भारत सरकार की टीम को दिया जाएगा ,इसके अलावा सड़क का नुकसान, बांध, पशु हानि और मकान डेमेज जैसे कई एस्टिमेट तैयार किये जा रहे है सभी डिपार्टमेंट के द्वारा कोई कोताही नही बरती गई है राहत कार्य भी जारी है ।

मोहंती ने बताया कि 8 हजार करोड़ का क्रॉप डेमेज मध्य्प्रदेश में हुआ और 1800 से 200करोड़ के अन्य सड़क और अन्य डेमेज में लगभग 10 हजार करोड़ का नुकसान मध्यप्रदेश में हुआ है ये आंकड़ा बढ़ भी सकता है कम भी हो सकता है ।

मोहंती ने कहा, मंदसौर और नीमच 5 तहसील इफेक्ट हुए 21 हजार लोगों को रिलीफ केम्प में ले जाया गया , आज तक 21 हजार से घट के 15 हजार लोग राहत केम प में रह रहे है कई एनजीओ भी सहायता कर रहे है , मंदसौर के अलावा नीमच में 12 गाव में 30000 लोगो को रिलीफ केम्प में ले जाया गया और रामपुर में 2500 लोग केम्प में है रतलाम में भी 700 लोगो के राहत केम्प में भेजा है ,
अब सिचवेशन कंट्रोल में है और 24 घंटे हम स्थिति पर वॉच रखे हुए है ।

मोहंती कहा, क्रॉप इंश्योरेंस में 33 से 34 लाख लोगों ने करवाया था इस बार भी 31 लाख लोगों ने लिए है और प्रदेश सरकार 509 करोड़ प्रीमियम फाइल करने जा रही है ।

प्रमुख सचिव ने बताया कि रॉड रिपेयर का कार्य इस बार एक महीने पहले ही कंसन्न कर सभी विभागों में टेंडर हो चुके है और काम 20 सितंबर के बाद शुरू होकर नवंबर तक पूरे किए जाएंगे। लोगो की मदद के लिए आप रिएक्शन देखेंगे तो आपको लगेगा कि सरकार कितनी एक्टिव है इस मामले में, कही कोई लापरवाही या कोताही नही बरती जा रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here