बेटे को मिला टिकट तो पिता ने की इस्तीफे की पेशकश, जानिए क्या है मामला | Steel Minister Birendra Singh Resigns

0
50
chaudhary birender singh

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने रविवार को अपनी एक और सूची जारी कर दी है। इस सूची में पार्टी ने हरियाण की दो सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की है। भाजपा ने रोहतक से अरविंद शर्मा और हिसार से चौधरी बीरेंद्र सिंह के बेटे ब्रिजेंद्र सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है लेकिन बेटे को टिकट मिलते ही चौधरी बीरेंद्र सिंह ने राज्यसभा और मंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश कर दी। वही बृजेंद्र ने वीआरएस के लिए आवेदन कर दिया है।

बृजेंद्र आईएएस ऑफिसर हैं और HAFED के एमडी हैं। हिसार में बृजेंद्र सिंह का मुकाबला कांग्रेस के उम्मीदवार दीपेंद्र सिंह हुड्डा से होगा। कहा जा रह है कि चौधरी बीरेंद्र सिंह परिवारवाद को बढ़ावा नहीं देना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने अपने इस्तीफे की पेशकश की है। बीरेंद्र सिंह इस समय कैबिनेट में मंत्री और राज्यसभा सदस्य हैं।

कही ये बात

इस्तीफे के पेशकश करते हुए चौधरी बीरेंद्र सिंह ने कहा कि चुनाव मैदान में उतारते हुए भाजपा राजवंशीय शासन का विरोध करती है। इसलिए मैंने सोचा कि यदि मेरे बेटे बृजेंद्र को टिकट मिलता है तो मैं राज्यसभा और केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दूंगा। साथ ही राजनीति से रिटायरमेंट ले लूंगा। अब टिकट मिल गया है, इसलिए मैंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिख दिया है। अब पार्टी जो फैसला करे, मैं तैयार हूं।

भाजपा की सूची

भाजपा ने रविवार को अपने प्रत्याशियों की एक और सूची जारी की है। इसमें मप्र की तीन, हरियाणा की दो और राजस्थान और पश्चिम बंगाल की एक-एक सीट के लिए उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है। मप्र की धार-महू लोकसभा सीट पर छतरसिंह दरबार को मैदान में उतारा है, तो झाबुआ-रतलाम सीट पर झाबुआ विधायक जीएस डामोर को प्रत्याशी बनाया है। वहीं खजराहो सीट पर विष्णुदत्त शर्मा को मौका दिया गया है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में जीएस डामोर ने कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के बेटे डाॅ. विक्रांत भूरिया को हरा दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here