इस प्रत्याशी के पास नहीं है एक भी रुपया, दिलचस्प है किस्सा | Interesting Story, This Candidate does not have a Single Rupees

0
25
mangeram kashyap

लोकसभा चुनाव के चुनावी रण में कई प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे है। भाजपा, कांग्रेस, आप सहित कई पार्टियों के अलावा कुछ प्रत्याशी निर्दलीय चुनाव लड़ रहे है। चुनाव लड़ने के लिए धन और बल दोनों की जरुरत होती है लेकिन इस चुनाव मैदान में एक प्रत्याशी ऐसा है जिसके पास ना धन है और ना ही बल। उनके बैंक अकाउंट में एक भी रुपया नहीं है।

ये लोकसभा प्रत्याशी है मांगेराम कश्यप। मांगेराम उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरपुर से चुनाव मैदान में उतरे हैं। ख़ास बात तो ये है कि मांगेराम साल 2000 से हर बार चुनाव लड़ते है और हर चुनाव के साथ वह गरीब हो जाते है। साल 2000 में मांगेराम से खुद की पार्टी बनाई थी।

पेशे से है वकील

मांगेराम पेशे से वकील है। उनकी पर्त्टी का नाम ‘मजदूर किसान यूनियन पार्टी’ है’। उनके साथ करीब एक हजार लोग जुड़े है और सभी मजदूर है। कहा जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में 51 साल के मांगेराम सबसे गरीब उम्मीदवार है।

इतनी है संपत्ति

हलफनामे के मुताबिक़ मांगेराम और उनकी पत्नी बबीता चौहान के पास कोई नकदी नहीं है। साथ ही उनका ना तो कोई बैंक बैलेंस है और ना ही उनके पास कोई जेवर है। हलफनामे में उन्होंने बताया कि उनके पास एक हजार वर्गमीटर का एक प्लाट है जिसकी कीमत पांच लाख रूपये है। इसके अलावा उनके पास 15 लाख रूपये का एक घर है। उन्होंने बताया कि उन्हें यह घर ससुराल की ओर से गिफ्ट में मिला था। मांगेराम के पास एक बाइक है जो 36 हजार रूपये की है।

पैदल करते है प्रचार

चुनाव प्रचार में जहां नेता-उम्मीदवार बड़ी-बड़ी गाड़ियों में प्रचार करते है वही मांगेराम पैदल अपना प्रचार करते है। मांगेराम के पास बाइक है लेकिन पेट्रोल के पैसे नहीं है। उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी गृहिणी है और उनके दो बच्चे है। उन्हें घर भी चलाना है। उन्होंने नौकरी की भी तलाश की थी लेकिन उन्हें उनके मुताबिक़ कोई नौकरी नहीं मिली। उन्होंने बताया कि पिछले चुनावों में भी उन्होंने पैदल प्रचार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here