शराब अफसर के यहां लोकायुक्त का छापा, करोड़ों की संपत्ति मिली

0
109

रायसेन। लोकायुक्त ने आबकारी सह आयुक्त आलोक खरे के सात ठिकानों पर छापेमार कार्रवाई की। 19 सदस्यी टीम ने खरे के फार्म हाउस पर मारा छापा। इस कार्रवाई में करोड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति का खुलासा होने की खबर सामने आ रही है। जांच के दौरान रायसेन में 56 एकड़ जमीन में दो जगह आलीशान फार्महाउस। इतना ही नहीं, खरे की पत्नी के नाम पर भी करोड़ों की बेनामी संपत्ति उजागर हुई है। जानकारी अनुसार लोकायुक्त ने आबकारी सह आयुक्त आलोक खरे के रायसेन, छतरपुर, इंदौर और भोपाल सहित 7 जगहों पर एक साथ कार्रवाई की।

बताया जा रहा है कि रायसेन के चोपड़ा मोहल्ला और डाबर इमलिया में एक साथ कार्रवाई जारी है। लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी का कहना कि ये प्रदेश की सबसे बड़ी कार्रवाई साबित हो सकती है। सूत्रों की माने तो आलोक खरे की पत्नी ने रायसेन में लंबे समय से फार्मिंग का काम कर रही है और कई फलों उत्पाद करती है लंबे समय से आलोक खड़े करोड़ों की आईटीआर फाइल अपने पत्नी के नाम से भी भर रहे हैं। कार्रवाई के दौरान आबकारी मंत्री ब्रजेन्द्र राठौर के पुत्र से लेन देन की जानकारी भी छापामार टीम के हाथ लगी है। भोपाल लोकायुक्त के निर्देश पर सागर लोकायुक्त की टीम छतरपुर में कार्रवाई कर रही है। फिलहाल आलोक खरे इंदौर में पदस्थ है।

आलोक कुमार खरें की धार फिर रतलाम पोस्टिंग के समय भी लोकायुक्त में शिकायत हुई थी, उस समय विभाग द्वारा खरें के विरुद्ध कार्यवाही कर देने का उल्लेख कर लोकायुक्त ने छापे की कार्यवाही नही की थी । अब दो माह पूर्व पुनः शिकायत हुई, जिसमें दिए दस्तावेज़ों की पुष्टि कर , आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के मामले में भ्रष्टाचार अधिनियम की दो धाराओं सहित तीन धाराओं में FIR दर्ज कर, आज दिनांक 15/10/2019 की सुबह 5.30 बजे लोकायुक्त पुलिस ने खरे के पाँच ठिकानों पर एक साथ छापे की कार्यवाही की । खरें के साथ इनकी पत्नी को भी आरोपी बनाया गया है । खरे के इंदौर, छतरपुर, रायसेन सहित पाँच स्थानों पर लोकायुक्त की इंदौर, सागर और भोपाल की टीम ने एक साथ छापा मारा है ।

आलीशान फ़ार्महाऊस, प्लाट, इन्वेस्टमेंट, सहित कई बैंक अकाउंट की जानकारी लोकायुक्त पुलिस को दी गई है । इंदौर, भोपाल और छतरपुर के आस पास खरें और इनके परिवार की संप्पति है । आलोक कुमार खरें आबकारी कमिश्नर रजनीश श्रीवास्तव और पीएस मनु श्रीवास्तव के खास बताए जाते है। खरें जब धार पोस्टेड थे तब भाजपा सरकार के रहते हुए भाजपा के क़द्दावर नेता विक्रम वर्मा की विधायक पत्नी नीना वर्मा ने कई शिकायतें की थी किन्तु विभाग ने वर्मा की शिकायतों पर भी कोई कार्यवाही नही की थी । इनके एक भाई खरगौन में डिप्टी कलेक्टर के पद पर पदस्थ है । शुरुआत में ही लगभग 5 करोड़ से अधिक की आय से अधिक सम्पत्ति सामने आएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here