Breaking News

द्रविड़ दिग्गजों के बगैर तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव | Lok Sabha elections in Tamil Nadu without great giants

Posted on: 24 Mar 2019 12:10 by Surbhi Bhawsar
द्रविड़ दिग्गजों के बगैर तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव | Lok Sabha elections in Tamil Nadu without great giants

लगभग आधी शताब्दी के बाद यह पहला मौका होगा जब तमिलनाडु की राजनीति को नेतृत्व देने के लिए द्रविड़ राजनीति का कोई स्थापित फिल्मी सितारा नहीं होगा। न तो ख्यात अभिनेत्री जयललिता यानी अम्मा और न ही फिल्मों के लेखक करुणानिधि यानी कलाईनार। दिसंबर 2016 में राज्य की मुख्यमंत्री रहते अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनैत्र कषगम की महासचिव जे. जयललिता के निधन और अगस्त 2018 में द्रविड़ मुनैत्र कषगम के संस्थापक एम. करुणानिधि के निधन के बाद राज्य की राजनीति में शून्य की स्थित है।

must read: पिता की सीट से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश | Akhilesh to contest from father’s seat

करुणानिधि ने सत्तर के दशक में राज्य से कांग्रेस के शासन का खात्मा किया था। उन्होंने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे तत्कालीन मुख्यमंत्री के.कामराज को परास्त किया था। उसके बाद से कांग्रेस इस प्रदेश में कभी राज ही नहीं कर पाई। मूलतः द्रविड़ मुनैत्र कषगम और उससे ही अलग होकर ही बनी अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनैत्र कषगम का संबंध नास्तिक विचारधारा से है। हिंदी का उग्र विरोध भी इनकी खास पहचान है, लेकिन तमिलनाडु की जनता एक के बाद एक दोनों पार्टियों को ही चुनती रही है। किसी तीसरी पार्टी को आधी शताब्दी में तो यहां कोई मौका नहीं मिला।

must read: भोपाल से चुनाव लड़ने के लिए कैसे तैयार हुए दिग्गी राजा, देखें वीडियो | kamalnath told- How Digvijay Singh be ready to contest Loksabha Election from Bhopal

वैसे भी राज्य की राजनीति में सीएन अन्नादुरै, एमजी रामचंद्रन जैसे सितारों का भी बोलबाला रहा। उन्हीं की विरासत को करुणानिधि व जयललिता नेन आगे बढ़ाया। इन दोनों की जन कल्याणकाररी नीतियों ने भी देशव्यापी ख्याति पाई। कभी राज्य के गरीबों को साइकिल मिली तो कभी रंगीन टीवी। कभी कुकर बांटे गए तो कभी मिक्सर। सस्ता अनाज औऱ बिजली मिलना तो लोगों को अधिकारर सा लगने लगा। इसके चलते जयललिता को अम्मा और करुणानिधि को कलाईनार कहा गया। इन दोनों के बगैर राज्य की राजनीति का ऊंट किस करवट बैठता है और दोनों राष्ट्रीय दल कांग्रेस और भाजपा यहां क्या कमाल बता पाते हैं, इस पर सारे देश के राजनीतिक विश्लेषकों की निगाह लगी है। यहां दूसरे चरण में अठारह अप्रैल को मतदान होना है।

must read: MP : BJP ने बनाया प्लान, ये नेता करेंगे इन शहरों में सभाएं | MP: BJP plans to make plans, these leaders will make meetings in these cities

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com