गठबंधन में अखिलेश बर्बाद, मायावती को राहत | Lok Sabha Election 2019: Akhilesh Yadav ruined in Coalition

0
23

लखनऊ । पीएम नरेंद्र मोदी की प्रचंड लहर पर सवार होकर भारतीय जनता पार्टी लगातार दूसरी बार केंद्र में सरकार बनाने जा रही है। शाह की रणनीति और मोदी का क्रैज सभी विपक्षी दलों पर भारी पड़ गया। उत्तरप्रदेश में कयास लगाए जा रहे थे कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन बीजेपी को तगड़ी चोट पहुंचा सकता है। हालांकि, यह सोच गलत साबित हुई।सपा, बसपा और रालोद ने मिल कर जो महा गठबंधन बनाया था, वह बेअसर रहा।
सपा और नुकसान करा बैठी, रालोद का सूपड़ा साफ हो गया, जबकि सबसे ज्यादा फायदा मायावती की पार्टी को हुआ। बता दें कि 2018 के उप चुनाव में कैराना, गोरखपुर और फूलपुर के नतीजों ने इन उम्मीदों को हवा दी कि सपा और बसपा का गठबंधन मोदी लहर को रोक सकता है। हालांकि, ऐसा न हो सका और सपा व बसपा मिल कर महज 15 सीटें ही जीत पाईं।
2014 के आम चुनाव में गनीमत रही कि समाजवादी पार्टी प्रमुख के परिवार के सदस्य अपनी सीटें बचाने में कामयाब हुए थे और 5 सीटें जीती थीं। हालांकि, इस बार अखिलेश की पत्नी डिंपल और उनके भाई धर्मेंद्र और अक्षय भी हार गए। इस बार सिर्फ सपा प्रमुख अखिलेश और संरक्षक मुलायम सिंह यादव ही अपनी सीट बचा पाए। रालोद की बात करें तो पार्टी चीफ अजीत सिंह को लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा। उन्हें बीजेपी के संजीव बालियान ने शिकस्त दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here