Breaking News

जितना नाम मोदी का लेते है उतना नारायण का नाम ले तो कल्याण हो जाएगा: अमित शाह

Posted on: 02 Feb 2019 14:37 by Ravindra Singh Rana
जितना नाम मोदी का लेते है उतना नारायण का नाम ले तो कल्याण हो जाएगा: अमित शाह

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को उत्तराखंड की राजधानी में त्रिशक्ति सम्मेलन को संबोधित करते हुए जमकर विपक्षी दलों पर हमलावर हुए। अमित शाह बोलें- भारतीय जनता पार्टी अपने कार्यकर्ताओं के आधार पर चुनाव जीतती है, भाजपा का कार्यकर्ता मुश्किल से मुश्किल चुनाव को भी प्रचड विजय में बदलने की ताकत रखता है।

भारतीय जनता पार्टी अपने कार्यकर्ताओं के आधार पर चुनाव जीतती है, भाजपा का कार्यकर्ता मुश्किल से मुश्किल चुनाव को भी प्रचंड विजय में बदलने की ताकत रखता है। देश भर की ज्यादातर पार्टियों में पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री वंशवाद की परंपरा के अनुसार तय होते हैं। लेकिन भाजपा एक गरीब को देश का प्रधानमंत्री बनाती है। ये हमारी पार्टी की विशेषता है।

केंद्र में नरेन्द्र मोदी जी की सरकार और उत्तराखंड में त्रिवेंद्र रावत जी की सरकार हैं, ये दोनों सरकारों ने फास्ट ट्रैक पर उत्तराखंड के विकास को आगे बढ़ाने का काम किया है। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा बेहद कठिन यात्रा है। प्रधानमंत्री ने यहां के लिए ऑल वेदर रोड का तोहफा देकर यात्रा को हर मौसम के लिए सुगम बनाने का प्रयास किया है।

बजट को लेकर विपक्षी दलों पर साधा निशाना

कल जब पीयूष गोयल जी देश का बजट पेश कर रहे थे, तब जोश में बोलने वाले विपक्षियों के चेहरे की हवाइयां उड़ गई। मोदी सरकार द्वारा कल पेश किए बजट में किसानों के लिए की गई घोषणा से 12 करोड़ किसानों को फायदा होने वाला है। 5 लाख तक की जिनकी वार्षिक आय है, मोदीजी की सरकार ने उस सभी को टैक्स के दायरे बाहर कर दिया है। मध्यम वर्ग के लिए इससे बड़ी राहत नहीं हो सकती।

विपक्षी सिर्फ मोदी हटाओ की बात करते हैं। जितना नाम ये मोदी जी का लेते हैं, इतना अगर नारायण का नाम ले लें तो उनका कल्याण हो जाएगा।

देश के मछुआरों के लिए अलग आयोग बनाकर, उनकी सुरक्षा व संरक्षण की व्यवस्था मोदी सरकार ने की है। मोदी जी का एक बार फिर प्रधानमंत्री बनना देश के विकास और देश की सुरक्षा के लिए बहुत जरुरी है।

कांग्रेस पर हमलावर हुए

राजीव गांधी जी ने कहा था कि मैं दिल्ली से 1 रुपया भेजता हूं तो गांवों में 15 पैसे पहुंचते है। हमनें DBT के माध्यम से विभिन्न पेंशनों व योजनाओं की धनराशि को सीधे लोगों के खातों में डालने का काम किया है।

आयुष्मान भारत योजना पर बोलें

आजादी के 70 साल बाद भी गरीब अपना इलाज नहीं करा पाता था। मोदी जी आयुष्मान भारत योजना लाए, अब गरीबों के इलाज का 5 लाख रुपए तक का सारा खर्चा भाजपा की नरेन्द्र मोदी सरकार उठाती है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com