Breaking News

लिंगायतो को अलग धर्म का दर्जा देना कांग्रेस के लिए सेल्फ गोल हुआ साबित

Posted on: 15 May 2018 06:03 by Surbhi Bhawsar
लिंगायतो को अलग धर्म का दर्जा देना कांग्रेस के लिए सेल्फ गोल हुआ साबित

कर्नाटक चुनाव के नतीजों पर Ghamasan.com के संपादक  आलोक वाणी की टिप्पणी –

कर्नाटक पर चल रही किच-किच के बीच यही चर्चा थी कि आखिर किसका होगा कर्नाटक और नतीजों ने यह साफ कर दिया कि कर्नाटक तो बीजेपी का हो गया है। कांग्रेस के हाथ से एक और बड़े राज्य की सत्ता निकल गई है। लेकिन आखिर ऐसा क्यों हुआ? कर्नाटक में बीजेपी की जीत के पीछे सबसे बड़े कारण कौन से थे?

अगर हम कर्नाटक चुनाव प्रचार पर एक निगाह डालें तो अमित शाह ने शायद ही कोई ऐसा तीर था जो ना चलाया हो। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तो पहले से ही कर्नाटक में एक्टिव था। उसके अलावा हिंदू बाहुल्य फोटो को अपनी तरफ खींचने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भरपूर उपयोग किया गया। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे बड़ा तुरुप का इक्का साबित हुए।

नरेंद्र मोदी ने जहां-जहां रैलियां की वह अधिकतर सीटों पर भारतीय जनता पार्टी जीती है। वहीं कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी का यह पहला चुनाव था, जिसमें उन्हें बुरी तरह हार का मुंह देखना पड़ा है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने लिंगायत फोटो को अपनी तरफ खींचने के लिए लिंगायतो को अलग धर्म का आश्वासन दे डाला। चुनाव के पहले तक इसे कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा था, लेकिन नतीजों के बाद यह पूरी तरह फेल होता दिख रहा है। कर्नाटक चुनाव के नतीजे जहां बीजेपी का आत्मविश्वास आसमान पर पहुंचा देंगे, वहीं कांग्रेस के लिए यह बुरी तरह तोड़ने वाले नतीजे होंगे।

साल के आखिर में होने वाले मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़ और राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए BJP को एक नया टॉनिक मिल गया है वहीं कांग्रेस अपने को दोबारा समेट कर इन 3 बड़े राज्यों की जंग के लिए उतरेगी। हालांकि उन राज्यों में कांग्रेस के लिए प्लस पॉइंट यह है कि वहां पर BJP एंटी इनकंबेंसी से जूझ रही होगी। हर चुनाव से पहले यह बात होती है कि बीजेपी का विजय रथ अब यहां पर रुक जाएगा, नरेंद्र मोदी की चमक अब खत्म हो चुकी है। लेकिन पहले गुजरात फिर हिमाचल प्रदेश और अब कर्नाटक नरेंद्र मोदी की चमक खत्म तो होती नहीं दिख रही है और BJP का अश्वमेध रुकता नहीं दिखता।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com