Breaking News

आज के यह सुपरस्टार कभी बेचते थे अखबार | Life Story of Superstars

Posted on: 10 May 2019 16:19 by rubi panchal
आज के यह सुपरस्टार कभी बेचते थे अखबार | Life Story of Superstars

चुनाव प्रचार में जहां एक ओर पार्टी चर्चीत चेहरों को जोड़ने में लगी है वहीं चुनाव में उनके प्रचार के लिए भी कोई कसर नहीं छोड़ रही। इसी बीच भाजपा ने भोजपुरी स्टार रवि किशन को पार्टी में एंट्री देने के साथ गोरखपुर सदर लोकसभा सीट से टिकट भी दिया है।

रवि किशन की सियासत में भले ही यह पहली बाजी है लेकिन बतोर स्टार रवि किशन जनता में काफी लोकप्रिय है। रवि किशन आज चाहे जितना भी स्टारडम के नजदीक हो लेकिन वे हमेशा से अपनी धरती से जुड़े रहे है। एक इंटरव्यू के दौरान रवि किशन ने कहा था कि वे जीवन में चीहे कितना भी आगे निकल जाए लेकिन वे कभी नहीं भुल सकते कि एक समय पर उन्हें अखबार भी बेचना पड़ा।

रवि ने इंटरव्यू में कहा है कि दीवाली और होली के त्यौहार में मेरे और मां के पास पहनने को नए कपड़े नहीं होते थे। मुझे अपने से ज्यादा बुरा अपने माता-पिता के लिए लगता था और उसी दौरान उन्होंने 25 रुपए प्रतिमाह की नौकरी में वे अखबार बेचते थे। उन्होंने बताया कि गांव के बाहर स्कूल के पास नीचे जमीन पर बोरा बिछाकर न्यूज पेपर बेचकर इससे जो पैसे मिले, उससे उन्होंनेे अपने मां-पिता के लिए नए कपड़े खरीदे।

रवि किशन का जन्म 17 जुलाई, 1969 जौनपुर के छोटे से गांव बिसुईं में एक मध्यम वर्गीय परीवार मे हुआ था। रवि की पत्नी का नाम प्रीति है। उनके चार बच्चे तीन बेटियां एक बेटा है। रवि किशन भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार तो है ही साथ ही वे अपने प्रसिद्ध संवाद “जिंदगी झंडबा फिर भी घमंडबा” के लिए काफी मशहुर है। इसके अलावा रवि किशन 2006 में, बिग बॉस 1 में फाइनल प्रतियोगी भी थे। वर्ष 2012 में उन्होंने झलक दिखला जा- 5 में भाग भी लिया था। वर्ष 2007 में, उन्होंने स्पाइडर-मैन फिल्म के अभिनेता पीटर पार्कर की आवाज को भोजपुरी में डब भी किया है।

Read more : बिकाऊ और गुलाम मीडिया की खबरें कर रहे हैं अब पोस्ट…

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com