मिलावट खोरों को फांसी की सजा दी जाएं – शहरक़ाज़ी

0
42


इंदौर। मुस्लिम समाज ने आज ईदुल अज़हा का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया। ईद की मुख्य नमाज सदर बाजार ईदगाह पर हुई। इसके अलावा शहर की तमाम मस्जिदों में भी ईद की नमाज अदा की गई। सदर बाजार ईदगाह पर ईद की मुख्य नमाज पढ़ाने से पहले शहरक़ाज़ी डॉक्टर मोहम्मद इशरत अली ने अपनी तकरीर में कहा कि कानून में किसी भी गुनाह के लिए सजा है, फांसी और उम्रकैद तक की सजा दी जाती है।

अफसोस है कि हुकूमत ऐसे कानून बनाती जा रही है जिसकी जरुरत नहीं है।जैसे तीन तलाक कानून। मगर मिलावट खोर जो देश की जनता को स्लो पाइजन देकर मार रहे है उनके लिए कोई कठोर सजा नहीं है। मैं हुकूमत से गुजारिश करता हूं ऐसे मिलावट खोरों को उम्र कैद या फांसी की सजा दी जाने का कानून बनाया जाए, जो चंद रुपयों की खातिर लोगों को जहर खिला रहे हैं।

इससे पहले शहर काजी को नमाज के लिए उनके निवास से शाही बग्घी में बिठाकर ईदगाह लाया गया और नमाज के बाद सा-सम्मान वापस उनके निवास पर छोड़ा गया। यह परंपरा विगत 50 सालों सेे रामचंद्र सलवाड़िया जी निभाते आ रहे थे, अब यही परंपरा उनके परिवार के लोग निभा रहे है।

ईदगाह पर शहरक़ाज़ी ने ईद की मुख्य नमाज अदा कराई। शहरक़ाज़ी ने अपने तकरीर में कहा कि आज हिंदू-मुस्लिम भाईयों के बीच जो नफरत फैलाई जा रही है। उसका सबसे ज्यादा जिम्मेदार सोशल मीडिया है। सोशल मीडिया पर बिना सत्यता परखे कोई भी खबर वायरल कर दी जाती है, जिसके कारण आपसी भाईचारा खत्म हो रहा हैै। फेसबुक, व्हाट्सएप और दिगर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अच्छे कामों की वजाए नफरत फैलाने वाले काम ज्यादा हो रहे है। हुकूमत को इस पर नजर रखना चाहिए।

उन्होंने कहा कि जिस तरह हमारे बुजुर्गों ने पानी को बचाया और पेड़ लगाएं, उसका फायदा हमें मिल रहा है। हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम भी पानी को सहजे है और चारों और हरियाली फैलाएं, ताकि आने वाली पीढ़ी इसका फायदा उठा सकें। समाज के लोगों से अपील की है कि इस बारीश में चारों ओर पौधे लगाएं।

पानी की अहमियत बताते हुए शहरक़ाज़ी ने कहा कि मस्जिदों की छत का और में वजू के बाद बहने वाले पानी को जमीन में उतारे। पानी को सहजने के लिए नगर निगम से मिलकर एक बड़ी योजना पर काम किया जा रहा है जिसके आने वाले समय में सकारात्मक परिणाम मिलेगें।

उन्होंने समाजजनों से अपने बच्चों को अच्छी तालीम दे, नेक बनाएं। अपने बच्चों पर नजर रखें कि वे गलत राह पर ना जाएं। आपने आधी रोटी खाएंगे और बच्चों को पढा़ंगे के नारे को बुलंद किया। नमाज के बाद शहरक़ाज़ी को समाज के लोगों ने मुबारकबाद दी। राजनीति और प्रशासन के जिम्मेदार लोग भी शहर काजी को मुबारकबाद देने पहुंचे। विधायक संजय शुक्ला, शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल सहित तमाम लोगों ने शहर काजी को मुबारकबाद दी। यह त्यौहार 3 दिन तक चलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here