लालू यादव का दावा, नीतीश कुमार दोबारा मिलना चाहते थे हाथ | Laloo Yadav’s claim, Nitish Kumar wanted to meet again

0
87
lalu prasad yadav

लोकसभा चुनाव में यूपी और बिहार राजनीति के केंद्र बने हुए हैं। इसी बीच लालू प्रसाद यादव की लिखी किताब ने बिहार में सियासी पारा चढ़ा दिया है। आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने ‘गोपालगंज से रायसीना, मेरी राजनीतिक यात्रा‘ नाम से एक किताब लिखी है। इसमें उन्होंने दावा किया है कि जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार महागठबंधन से अलग होने और भाजपा से गठजोड़ होने के छह महीने बाद दोबारा वापसी करना चाहते थे, मगर उन्होंने मना कर दिया था।

अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, लालू यादव ने अपनी किताव में दावा किया चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उनसे पांच बार मिले थे। इधर, प्रशांत किशोर ने पलटवार करते हुए इस दावे को बकवास बताया है। उन्होंने कहा कि लालू जी द्वारा जो भी दावे किए जा रहे हैं वह बनावटी है। एक नेता द्वारा प्रासंगिकता में बने रहने के लिए यह एक घटिया कोशिश के अलावा और कुछ नहीं है। साथ ही उन्होंने मुलाकात की बात को स्वीकारते हुए कहा कि यह बात सही है कि जेडीयू ज्वाइन करने से पहले कई बार लालू यादव से मिले थे, लेकिन अगर मैं उन तमाम बातों को बता दूं जो उनके साथ हुए थे तो वह काफी शर्मिंदगी महसूस करेंगे।

Read More : सुप्रीम कोर्ट ने लालू यादव की जमानत याचिका पर सीबीआई से मांगा जवाब Supreme Court seeks CBI response on Lalu Yadav bail plea

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here