Breaking News

कोटा: ब्लू व्हेल का शिकार हुआ एक और बच्चा, चूड़ी-मंगलसूत्र पहनकर लगाई फांसी

Posted on: 20 Jun 2019 14:49 by Mohit Devkar
कोटा: ब्लू व्हेल का शिकार हुआ एक और बच्चा, चूड़ी-मंगलसूत्र पहनकर लगाई फांसी

राजस्थान के कोटा में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आ रहा है. यहां एक 12 साल के लड़के ने मोबाइल पर ऑनलाइन गेम खेलते हुए खुदखुशी कर ली. जानकारी के मुताबिक, लड़के ने फांसी लगाकर खुदखुशी की है. सिर्फ इतना ही नहीं उसने हाथों में चूड़ियां और गले में मंगलसूत्र भी पहना हुआ था. बच्चे के घरवालों का कहना है कि वह पिछले कई दिनों से वह मोबाइल पर ब्लू व्हेल जैसा कोई गेम खेल रहा था. जिसके चलते उसने अपनी जान दे दी.

राजस्थान के कोटा में ऐसा यह पहला मामला सामने आया है. मृतक बच्चे का नाम कुशल बताया जा रहा है. ख़बरों के मुताबिक, इन दिनों उसके स्कूल की छुट्टियां चल रही थी. जिस वजह से वह दिनभर घर में ही रहता था. कुछ दिनों वह मोबाइल पर गेम खेल रहा था. जी वजह से वह दिनभर अपने कमरे में ही रहता था.

घरवालों के मुताबिक, सोमवार को रात के समय वह खाना खाकर अपने कमरे में सोने चला गया था. अगले दिन जब सुबह वह काफी देर से बाहर नहीं आया तो परिजनों ने उसके कमरे में जाकर देखा. लेकिन वह वहां पर मौजूद नहीं था. जब उसके कमरे के बाथरूम में जाकर देखा तो दरवाजा अंदर से बंद था. लेकिन कई बार कोशिश करने के बाद जब उसने जवाब नहीं दिया तो परिजनों ने दरवाजा तोड़ दिया. जिसके बाद उनके सामने हैरान कर देने वाला मंज़र था. सामने कुशाल फांसी के फंदे पर झूल रहा था. हैरान करने वाली बात ये थी कि उसने हाथों में चूड़ियां और गले में एक मंगलसूत्र पहना हुआ था. परिजन फौरन उसे अस्पताल लेकर भागे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

परिजनों के मुताबिक, कुशाल ने कभी चूड़ी और मंगलसूत्र जैसी चीज़े नहीं पहनी थी. घरवालों का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से वह ब्लू व्हेल जैसा कोई ऑनलाइन गेम खेल रहा था. उसी की वजह से उसने आत्महत्या की है.

दूसरी तरफ इस मामले पर पुलिस का कहना है कि कुशाल ऑनलाइन गेम खेलता था, लेकिन वह कोनसा खेल रहा था. यह अभी तक पता नहीं चल पाया है. पुलिस अभी इस मामले की जांच कर रही है. जिसके बाद पता चलेगा की उसने गेम के चलते खुदखुशी की है या नहीं. पुलिस ने बच्चे का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है. मामले की छानबीन चल रही है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com