जानिए ‘मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम’ की ख़ास बातें, जहां भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी नीता अंबानी

21 वीं सदी के महान अजूबों में से एक मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ़ आर्ट में मानवता की सबसे बड़ी उपलब्धियों का एक समूह है। जिसमें 6000 साल के पुरे विश्व का बिस्तर किया गया है।

0
52
met

नई दिल्ली : 21 वीं सदी के महान अजूबों में से एक मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ़ आर्ट में मानवता की सबसे बड़ी उपलब्धियों का एक समूह है। जिसमें 6000 साल के पुरे विश्व का बिस्तर किया गया है। इस म्यूजियम में जापानी कवच का एक पूरा सेट और कई तरह की पेंटिंग्स का नजारा देखने को मिलता है। आपको बता दें कि, इस म्यूजियम में भारतीय महाकाव्य “रामायण” दिखाया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, रामायण साल भर तक चलने वाली एक एक प्रमुख प्रदर्शनी का केंद्र बिंदु होगा। जिसमे 19वीं सदी के बीच उत्तर भारत के राजपूत और पहाड़ी दरबारों के लिए बनाए गए 30 चित्रों को प्रस्तुत किया जाएगा। बताया जा रहा है कि एक साल तक चलने वाली इस प्रदर्शनी को “सीता एंड राम: द रामायण इन इंडियन पेंटिंग” का नाम दिया गया है।

150 साल पुराना है म्यूजियम –
न्यूयॉर्क शहर का मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ़ आर्ट अमेरिका का सबसे बड़ा आर्ट म्यूज़ियम है। ये 150 साल पुराना है, यहां पर 5000 साल पुरानी कलाकृतियों को संरक्षित करके रखा गया है। इस म्यूजियम को यहां पर लाखों की संख्या में लोग आते है। लोग यहां कि भारतीय कला को देख प्रभावित हो जाते है।

आपको बता दें कि, 2017 में भी मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट ने एक खास कार्यक्रम में नीता अंबानी को सम्मानित किया था। साथ ही नीता अंबानी ‘द मेट्स इंटरनेशनल काउंसिल’ की भी सदस्य है। बता दें कि 2016 में फोर्ब्स ने नीता अंबानी को एशिया के 50 सबसे शक्तिशाली कारोबारी महिलाओं की लिस्ट में शामिल किया था। वह अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति की सदस्य भी हैं और इस भूमिका को निभाने वाली वे पहली भारतीय महिला हैं। म्यूजियम के चेयरमैन डेनियल ब्रॉडस्की ने कहा कि नीता अंबानी की मदद से म्यूजियम की कला के अध्ययन और प्रदर्शन की क्षमताओं में काफी इजाफा हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here