Breaking News

जानिए इस गांव की अनोखी कहानी, यहां आज भी एक महिला के होते हैं कई पति

Posted on: 09 Jan 2019 17:02 by Ravindra Singh Rana
जानिए इस गांव की अनोखी कहानी, यहां आज भी एक महिला के होते हैं कई पति

आज हम आपको राजस्थान से डॉग इलाके के कुछ गांव के किस्से बताते हैं, जहां पर आज भी एक महिला के कई पति होते हैं और इस तरह से इन गांव में द्रौपदी की परंपरा चली आ रही है। जानने वाली बात तो यह भी है कि बहु पति प्रथा का प्रचलन यहां पर सालों से चल रहा है। डॉग इलाके के अविवाहित युवकों को उनके भाइयों की पत्नी के साथ वैवाहिक जीवन इसलिए भी बिताना पड़ता है कि उनके विवाह के लिए कन्याएं नहीं मिलतीं। इस गांव की एक महिला की कहानी तो बड़ी दिलचस्प है। उनकी शादी २८ वर्षीय युवक से हुई है, जो नौ भाइयों में सबसे बड़े हैं। उनके दो छोटे भाइयों की उम्र उनके दो बेटों के बराबर है। अब इस महिला को अपने पति और चार देवरों के साथ बारी-बारी रात बिताना पड़ती है। यहां पर यह भी व्यवस्था है कि जब महिला किसी एक के साथ सोती है, तो फिर घर के सारे काम कपड़ा धोना, बर्तन धोना अन्य भाइयों को करना पड़ता है।

बंजर इलाके में रहने वाले इस समुदाय में १००० पुरुषों पर महिलाओं की संख्या मात्र ७०० के आसपास होती है, यही वजह है कि डॉग इलाके में पत्नी को बेश-कीमती संपत्ति माना जाता है, जिसे विवाहित मर्द अपने भाइयों के साथ बांटता है। यहां की एक महिला का यह भी कहना है कि यह मेरे ऊपर है कि मैं अपने पति के भाइयों में से किसे अपने साथ सोने देती हूं। यहां की एक और कहानी बड़ी दिलचस्प है। यहां के २५ साल के युवक ने एक नाबालिग लडक़ी से शादी की और वह बालिग होने तक अपने माता-पिता के पास रहेगी।

तब तक यह युवक अपनी भाभी से शारीरिक संबंध रखेगा। बाकी भाई भी इसलिए खुशकिस्मत हैं, क्योंकि उनकी दो बहनों की शादी के बदले में बड़े भाइयों को पत्नियां मिलीं। अब और कोई बहन न होने के कारण बचे हुए भाइयों को पत्नी नहीं मिल पाई। यहां पर हालत यह है कि रईस लोग जो लगभग ढाई से तीन लाख रुपए दे सके, तभी बीबी पाने की उम्मीद कर सकते हैं। यहां पर ऐसा भी होता है कि सभी भाई मिलकर पैसा जुटाते हैं और फिर एक भाई की शादी करा देते हैं, लेकिन पत्नी सभी की हो जाती है। यहां के एक नेता का यह कहना है कि इस इलाके के पिछड़ेपन के कारण परिवार नाम की संस्था नष्ट हो रही है और अपने भाई की पत्नी के साथ विवाहित जीवन बिताने को मजबूर अविवाहित युवाओं की समस्या गंभीर बनती जा रही है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com