Breaking News

रोजगार का बड़ा माध्यम बन सकती है खादी: डॉ. ए.वी.गणवीर

Posted on: 08 Jan 2019 09:34 by Ravindra Singh Rana
रोजगार का बड़ा माध्यम बन सकती है खादी: डॉ. ए.वी.गणवीर

इंदौर: शहर के ग्रामीण हाट बाज़ार में भारत सरकार के माइक्रो, स्मॉल एवं मीडियम इंटरप्राइजेज मंत्रालय के अंतर्गत खादी ग्रामोद्योग द्वारा पूज्य महात्मा गांधी जी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 16 दिवसीय खादी बाजार प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। सोमवार को इस प्रदर्शनी का समापन हुआ। इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोगों ने खादी कपड़ों की खरीदारी की। समापन कार्यक्रम में प्रदर्शनी के मुख्य अतिथि व  उपनिदेशक डॉ. ए.वी.गणवीर द्वारा सभी सहभागियों को प्रमाण पत्र वितरण किया गया एवं खादी के उपयोग हेतु प्रोत्साहित किया गया। प्रदर्शनी में युवाओं को खादी को स्वरोजगार का जरिया बनाने के लिए प्रेरित किया गया।

प्रदर्शनी में सोमवार को समापन के अवसर पर उल्लेखनीय बिक्री करने वाले विक्रेताओं को सम्मानित भी किया गया। ज्वाला ग्रामोद्योग कानपुर ने एकल ईकाई होने के बावजूद, सर्वाधिक बिक्री का लक्ष्य प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। खादी ग्रामोद्योग भवन भोपाल ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। पहलगाँव खादी ग्रामोद्योग (श्रीनगर) को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। ग्रामोद्योग जलालपुर, सीतापुर ने भी प्रमाण पत्र प्राप्त किया।

समापन पर प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित करने पहुंचे मुख्य अतिथि व उप निदेशक डॉ. ए.वी.गणवीर ने कहा कि खादी हमारे देश की शान है। युवा वर्ग को खादी वस्त्रों के प्रति जागरूक करना होगा, तभी खादी की पहचान बनी रहेगी। खादी में रोजगार की असीम संभावना है। इस तरह की खादी प्रदर्शनी ग्रामीण महिलाओं के लिए भी एक बेहतर मंच प्रदान कर रही है। डॉ. ए.वी.गणवीर ने खादी को स्वरोजगार से जोड़ने पर बल दिया और कहा कि खादी लोगों के आर्थिक सुधार का माध्यम बन सकता है।

प्रदर्शनी के संयोजक श्री पंकज दुबे ने कहा कि इस प्रदर्शनी को शहरवासियों द्वारा काफी पसंद किया गया और यहाँ आए ग्राम उद्योगियों को बहुत अच्छा प्रतिसाद मिला है। यह प्रदर्शनी 22 दिसंबर से शुरू हुई थी और इसके समापन तक खादी की काफी डिमांड रही। ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत कत्तिनों, बुनकरों एवं परम्परागत कारीगरों को निरंतर रोजगार उपलब्ध कराने एवं उनके द्वारा उत्पादित खादी वस्त्र तथा ग्रामोद्योग सामग्री को विक्रय करने के उद्देश्य से एवं इंदौर वासियों के लिए उच्च गुणवत्ता के खादी वस्त्र उपलब्ध कराने हेतु खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा इस खादी प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। खादी का व्यापक प्रचार-प्रसार हो सके इसलिए आगे भी हम इस प्रकार की प्रदर्शनी आयोजित करते रहेंगे।

Read More: कोहरे से थमी 400 से ज्यादा ट्रेनों की रफ़्तार

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com