Homeदेशउत्तर प्रदेशकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर बनकर तैयार, क्या कैबिनेट की बैठक मंदिर में कराने...

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर बनकर तैयार, क्या कैबिनेट की बैठक मंदिर में कराने वाले पहले मुखिया बनेंगे योगी ?

उत्तरप्रदेश और देश की प्राचीन धार्मिक नगरी वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों की बदौलत भव्य काशी विश्वनाथ कॉरिडोर(Kashi Vishwanath Corridor) बनकर तैयार हो गया हैं।

उत्तरप्रदेश और देश की प्राचीन धार्मिक नगरी वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों की बदौलत भव्य काशी विश्वनाथ कॉरिडोर(Kashi Vishwanath Corridor) बनकर तैयार हो गया हैं। और इसके लोकार्पण के लिए 13 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी आएंगे। इस समारोह को भव्य बनाने के लिए केंद्र और राज्य दोनों बड़े स्तर पर तैयारियां कर रहें हैं।

वहीं वाराणसी में भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन होगा। और इसी के साथ उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री की एक कैबिनेट बैठक भी होगी जिसको लेकर तैयारियां जोर शोर पर हैं। 14 दिसंबर को होने वाली भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक को प्रधानमंत्री मोदी लीड करेंगे। इसके बाद 16 दिसंबर को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी कैबिनेट की बैठक लेंगे। आपको बता दे कि यह बैठक काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में ही कराने की तैयारी चल रहीं है। इस प्रकार योगी आदित्यनाथ कैबिनेट की बैठक, मंदिर में कराने वाले देश और प्रदेश के पहले मुखिया बन जाएंगे।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को लेकर हो रहे आयोजनों के पीछे आगामी विधानसभा चुनाव को एक बड़ा फैक्टर माना जा रहा हैं। और इससे बीजेपी को सियासी फायदा होने तक के आसार लगाए जा रहें हैं। इस आयोजन में काशी चलो अभियान के तहत पूरे देश से काशी के लिए ट्रेनें चलाई जाएंगी।

आपको बता दे कि 13 दिसंबर को कॉरिडोर के लोकार्पण के साथ ही यहां एक महीने तक चलने वाले आयोजनों की शुरुआत होनी हैं। जिसमें भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन, देश के सभी महापौरों की सम्मेलन के अलावा भी हर दिन अलग-अलग कार्यक्रम प्रस्तावित हैं।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular